H

एमपी के 12 जिलों में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी, जानें मौसम का हाल

By: Richa Gupta | Created At: 11 July 2024 05:27 AM


मानसून और बारिश आज मध्य प्रदेश के ज्यादातर जिलों में लोगों को परेशान करने वाला है। मौसम विभाग ने राज्य के 12 जिलों में भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है।

bannerAds Img
मानसून और बारिश आज मध्य प्रदेश के ज्यादातर जिलों में लोगों को परेशान करने वाला है। मौसम विभाग ने राज्य के 12 जिलों में भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। इसके साथ ही कई जिलों में तेज हवा के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। बुधवार को साइक्लोनिक सर्कुलेशन और ट्रफ लाइन के एक्टिव होने के कारण प्रदेश के कई जिलों झमाझम बारिश हुई।

इन जिलों में बारिश का अलर्ट

मध्य प्रदेश में आज गुरुवार को 12 जिलों में तेज बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने नर्मदापुरम, बैतूल, रीवा, मऊगंज, सतना, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट, पन्ना, मैहर और पांढुर्ना में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। साथ ही निवाड़ी, शिवपुरी, अशोकनगर, मुरैना और सिंगरौली में भी झमाझम बारिश होने की संभावना जताई है। इन 12 जिलों में तेज बारिश का यलो अलर्ट जारी करने के अलावा भोपाल, इंदौर, जबलपुर, उज्जैन समेत कई जिलों में हल्की से मध्यम बारिश होने के आसार जताए हैं। साथ ही कहीं-कहीं तेज हवा भी चल सकती है।

क्या होता है बारिश का येलो अलर्ट

"बारिश का येलो अलर्ट" एक प्रकार का मौसमी अलर्ट होता है जो किसी क्षेत्र में भविष्यवाणी किया जाता है जब मौसम विशेष रूप से बारिश के लिए अधिक प्रवृत्त होता है, लेकिन यह सामान्य से अधिक नहीं होता है। यह एक प्रकार की संकेत सेवा होती है जो मौसम विशेषज्ञों द्वारा जारी की जाती है ताकि लोग बारिश के अनुमानित प्रभावों के लिए सजग रह सकें। बारिश का "येलो अलर्ट" विभिन्न भौतिक परिस्थितियों के आधार पर जारी किया जाता है, जैसे कि वर्षा की मात्रा, वर्षा के आगमन की स्थिति, और बारिश के संभावित प्रभावों का अनुमान। यह एक चेतावनी होती है जिसका अर्थ है कि लोगों को आगामी बारिश के लिए तैयार रहना चाहिए, लेकिन इसका मतलब नहीं है कि संकेत क्षेत्र में सभी बारिश से प्रभावित होंगे। इस प्रकार के अलर्ट का मकसद यह होता है कि लोग समय रहते तैयार हो सकें, सुरक्षित रह सकें और आवश्यक एहतियात बरत सकें।