H

धार भोजशाला का एएसआई सर्वे 14 वें दिन भी जारी, हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष भी पहुंचीं

By: Ramakant Shukla | Created At: 04 April 2024 10:57 AM


धार की ऐतिहासिक भोजशाला में 14 वें दिन आज गुरुवार को भी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की टीम ने सर्वे आरंभ कर दिया है। एएसआई टीम ने कल करीब 10 घंटे सर्वे कर महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए। कल सर्वे में शामिल होने के लिए हिंदू फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष व भोजशाला प्रकरण की याचिकाकर्ता रंजना अग्निहोत्री भोजशाला पहुंची थीं।

banner
धार की ऐतिहासिक भोजशाला में 14 वें दिन आज गुरुवार को भी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की टीम ने सर्वे आरंभ कर दिया है। एएसआई टीम ने कल करीब 10 घंटे सर्वे कर महत्वपूर्ण साक्ष्य जुटाए। कल सर्वे में शामिल होने के लिए हिंदू फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष,भोजशाला प्रकरण की याचिकाकर्ता रंजना अग्निहोत्री भोजशाला पहुंची थीं।

हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष भी पहुंचीं

हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस की राष्ट्रीय अध्यक्ष व लखनऊ की एडवोकेट रंजना अग्निहोत्री में स्पष्ट रूप से कहा है कि खुदाई पर कोई प्रतिबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि कुछ भ्रम था ऐसे में हमने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की टीम को दोनों ही न्यायालय के आदेश की प्रति उपलब्ध करा दी है। आदेश की विस्तृत व्याख्या करके बता दी गई है। हम संतुष्ट हैं टीम द्वारा न्यायालय के आदेश के अनुसार ही कार्य किया जा रहा है। रंजना अग्निहोत्री ने भोजशाला में टीम से महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा की। उनके अनुसार न्यायालय के आदेश के बाद सर्वे चल रहा है। फिलहाल टीम द्वारा ब्रशिंग, क्लीनिंग की जा रही है। वहीं मिट्टी हटाकर साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। उन्हों ने कहा कि वे पूर्व में भी कई बार धार आ चुकी हैं। उनके अनुसार जो पहले दिखता था, वहीं आज भी दिखता है और वहीं पूरी नगरी के लोगों को भी दिखता है। पूर्व में यहां फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी भी करवाई है। टीम द्वारा मिट्टी हटाने की प्रक्रिया चल रही है। इसे खोदाई नहीं कहेंगे, खोदाई तो फावड़े से होती है। यह एक मिट्टी हटाने की प्रक्रिया है जो छोटे-छोटे औजारों से मिट्टी हटाकर उसका परीक्षण करते हैं। ताकि भोजशाला की धरोहर को किसी तरह का कोई नुकसान नहीं हो।

भोजशाला में सर्वे का 14वां दिन

रंजना तीन दिन धार में ही रहेंगी। वे प्राचीन मंदिर में जाने के साथ ही शहर के नागरिकों से भी चर्चा करेंगी। गौरतलब है कि काशी की ज्ञानवापी की तर्ज पर भोजशाला में एएसआई की टीम द्वारा 22 मार्च से सर्वे का कार्य जारी है।