H

इंडोनेशिया दौरे पर जाएंगे रक्षा मंत्री Rajnath Singh, ASEAN डिफेंस मिनिस्टर मीटिंग में करेंगे शिरकत

By: payal trivedi | Created At: 14 November 2023 12:40 PM


रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 10 देशों वाले ASEAN और उसके कुछ संवाद साझेदारों वाले समूह की बैठक में भाग लेने के लिए इंडोनेशिया की दो दिवसीय यात्रा करेंगे।

bannerAds Img
नई दिल्ली: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 10 देशों वाले ASEAN और उसके कुछ संवाद साझेदारों वाले समूह की बैठक में भाग लेने के लिए इंडोनेशिया की दो दिवसीय यात्रा करेंगे। इस बैठक में उभरते क्षेत्रीय सुरक्षा परिदृश्यों पर विचार-विमर्श करने की उम्मीद जताई गई है।

रक्षा क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों पर होगी चर्चा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा ASEAN रक्षा मंत्रियों की बैठक प्लस (ADMM-Plus) में क्षेत्र के सामने आने वाली प्रमुख सुरक्षा चुनौतियों से निपटने पर भारत के विचार प्रस्तुत करने की संभावना है। एडीएमएम-प्लस एक मंच है, जिसमें 10 देशों का आसियान (दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का संघ) और इसके आठ संवाद भागीदार है, जिसमें भारत, चीन, ऑस्ट्रेलिया, जापान, न्यूजीलैंड, कोरिया गणराज्य, रूस और संयुक्त राज्य अमेरिका शामिल हैं।

16 और 17 नवंबर को इंडोनेशिया के दौरे पर होंगे रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्रालय ने कहा, "रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 10वीं आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक-प्लस (एडीएमएम-प्लस) में शामिल होने के लिए 16 से 17 नवंबर तक इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता की आधिकारिक यात्रा करेंगे।" एक प्रेस रिलीज में कहा गया, "16 नवंबर को होने वाली बैठक के दौरान रक्षा मंत्री क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मुद्दों पर मंच को संबोधित करेंगे।"

इंडोनेशिया कर रहा मेजबानी

इस साल इंडोनेशिया एडीएमएम-प्लस के वर्तमान अध्यक्ष के रूप में बैठक की मेजबानी कर रहा है। मंत्रालय के मुताबिक, एडीएमएम-प्लस बैठक से इतर राजनाथ सिंह भाग लेने वाले देशों के रक्षा मंत्रियों के साथ द्विपक्षीय बैठकें करेंगे और रक्षा सहयोग से संबंधित मुद्दों पर चर्चा करेंगे। भारत 1992 में आसियान का संवाद भागीदार बना और उद्घाटन ADMS-Plus अक्टूबर 2010 में हनोई में आयोजित किया गया था। 2017 से, एडीएमएम-प्लस मंत्री क्षेत्रीय सुरक्षा सहयोग को मजबूत करने के लिए सालाना बैठक कर रहे हैं।

क्या है आसियान?

आसियान (ASEAN) का पूरा नाम एसोसिएशन ऑफ साउथ ईस्ट एशियन नेशंस है। ये एक क्षेत्रीय संगठन है, जहां अलग-अलग देश अपने आर्थिक और सुरक्षा मुद्दों को संबोधित करने के लिए एक साथ आता है। ये दस दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का एक अंतर सरकारी संगठन है। इस 10 देशों में ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड और वियतनाम शामिल है।