H

राजधानी भोपाल में नहीं थम रहे डेंगू के मामले, 24 घंटे में आए 13 नए केस

By: Richa Gupta | Created At: 21 November 2023 08:22 AM


प्रदेश में बदलते मौसम के साथ बीमारियां भी तेजी से फैल रही है। राजधानी भोपाल समेत ग्वालियर, इंदौर में डेंगू पैर पसारे हुए है। बात करें राजधानी भोपाल की तो राजधानी में डेंगू पॉजिटिविटी रेट में बढ़ेतरी हुई है।

bannerAds Img
प्रदेश में बदलते मौसम के साथ बीमारियां भी तेजी से फैल रही है। राजधानी भोपाल समेत ग्वालियर, इंदौर में डेंगू पैर पसारे हुए है। बात करें राजधानी भोपाल की तो राजधानी में डेंगू पॉजिटिविटी रेट में बढ़ेतरी हुई है। बता दें कि अब डेंगू मरीजों की संख्या बढ़कर 775 हो गई है। 67 संदिग्ध मरीजों की हुई थी टेस्टिंग। बीते 24 घण्टे में 52 टीमों ने किया शहर के 1995 घरों का सर्वे। 118 घरों में पाया गया डेंगू मच्छर का लार्वा। ईदगाह हिल्स, रविदास कॉलोनी, नारियल खेड़ा,नगर निगम कमला पार्क,तलैया, शिवाजी नगर,मैदा मिल रोड, अवधपुरी,पिपलानी, राजीव नगर,हाउसिंग बोर्ड करोंद, सुभाष नगर में मिले हैं पॉजिटिव।

डेंगू बुखार के लक्षण

डेंगू का प्रमुख लक्षण होता है, तेज बुखार, जिसका तापमान 104 डिग्री फैरेनहाइट (40 डिग्री सेल्सियस) तक बढ़ सकता है।

डेंगू बुखार के कुछ मरीजों को पेट में दर्द और डायरिया भी हो सकता है।

कुछ मरीजों को डेंगू के साथ खांसी और सर्दी भी हो सकती है।

डेंगू इंफेक्शन से व्यक्ति काफी थक जाता है और अक्सर असमर्थ होता है।

डेंगू बुखार के लक्षणों में एक विशेषता है कि इसके साथ व्यक्ति की त्वचा पर लाल दाने निकल सकते हैं।

डेंगू के मरीजों को अक्सर जोड़ों में दर्द और सूजन हो सकती है, जिसे डेंगू के इसके लक्षण “डेंगू फीवर” कहा जाता है।

डेंगू बुखार से बचने के उपाए

स्थानीय जनसंचालन के निर्देशों का पालन करें।

अपने घर के आस-पास की जगहों पर पानी जमा न होने दें।

मच्छर काटने से बचने के लिए मच्छर नेट्स का उपयोग करें।

डेंगू बुखार से बचने के लिए अपने घर को साफ-सुथरा रखें।

स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर मच्छर प्रबंधन और डेंगू नियंत्रण के उपायों का समर्थन करें।

डेंगू वायरस मुख्य रूप से एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से फैलता है, इसलिए मच्छरों के काटने से बचें।