H

काशी विश्वनाथ धाम में अब श्रद्धालु बिना भीड़भाड़ और धक्का-मुक्की के कर सकेंगे दर्शन, प्रशासन ने बनाया ये प्लान

By: Sanjay Purohit | Created At: 28 March 2024 02:57 PM


वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम में दर्शन करने के लिए भक्तों की भीड़ लगी रहती है। देश-विदेश से भक्त यहां पर दर्शन करने पहुंचते है,

banner
वाराणसी में काशी विश्वनाथ धाम में दर्शन करने के लिए भक्तों की भीड़ लगी रहती है। देश-विदेश से भक्त यहां पर दर्शन करने पहुंचते है, लेकिन भक्तों की संख्या ज्यादा होने के कारण काशीवासियों को भी भीड़ और धक्का-मुक्की के बीच दर्शन करना पड़ता है। लेकिन, अब मंदिर प्रशासन ने काशी वालों को एक नई सुविधा देने का प्लान बनाया है। स्थानीय लोगों बिना किसी धक्का-मुक्की और भीड़ के दर्शन कर सकेंगे। यह सुविधा जल्द लागू कर दी जाएगी।

इस प्रस्ताव पर काशी विश्वनाथ मंदिर प्रशासन ने ब्लू प्रिंट बनाना शुरू कर दिया है। बता दें कि दिन-प्रतिदिन काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शनों के लिए आने वाले भक्तों की संख्या बढ़ती जा रही है। साल 2022 और 2023 में लगभग 13 करोड़ दर्शनार्थियों ने बाबा का दर्शन किया और 58 करोड़ रुपये चढ़ावा आया। मंदिर में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने से स्थानीय और नेमी श्रद्धालुओं को भारी मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। विश्वनाथ मंदिर प्रशासन की माने तो अप्रैल से काशी के स्थानीय लोगों के लिए मंदिर में अलग से व्यवस्था शुरू कर दी जाएगी।

इस बारे जानकारी देते हुए मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी विश्व भूषण मिश्रा ने बताया कि श्री काशी विश्वनाथ बाबा के दरबार में दर्शन के लिए पूरे विश्व से आस्थावान आते हैं। लेकिन इसके साथ ही काशी के श्रद्धालुओं की परंपरा रही है कि वे बाबा विश्वनाथ का दैनिक दर्शन करते हैं। उनकी सुविधा को देखते हुए एक प्रस्ताव आया है कि उनके लिए एक अलग द्वार या समय दे दिया जाए और इस पर विचार किया जा रहा है। यह सुविधा अप्रैल महीने से शुरू हो जाएगी। इसके लिए स्थानीय लोगों को आईडी प्रूफ से प्रमाणित किया जाएगा।