H

पीएम मोदी ने इमरजेंसी को बताया लोकतंत्र पर 'काला धब्बा', तो कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने किया पलटवार

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 24 June 2024 10:43 AM


पीएम मोदी ने आगे कहा कि, भारत की नई पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी कि, भारत के संविधान को पूरी तरह से नकार दिया गया, संविधान के हर हिस्से को टुकड़े-टुकड़े कर दिया गया, देश को जेलखाना बना दिया गया, लोकतंत्र को पूरी तरह से दबा दिया गया।

bannerAds Img
18वीं लोकसभा के पहले सेशन से पहले मीडिया को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कांग्रेस पर तीखा हमला किया है। पीएम मोदी ने आज इमरजेंसी की 50वीं वर्षगांठ से एक दिन पहले इसकी घोषणा को भारतीय लोकतंत्र पर एक "काला धब्बा" बताया। उन्होंने आगे कहा कि, कल 25 जून है। 25 जून को भारत के लोकतंत्र पर लगे कलंक की 50वीं वर्षगांठ है।

हम जीवंत लोकतंत्र का संकल्प लेंगे- पीएम मोदी

मीडिया को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने आगे कहा कि, भारत की नई पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी कि, भारत के संविधान को पूरी तरह से नकार दिया गया, संविधान के हर हिस्से को टुकड़े-टुकड़े कर दिया गया, देश को जेलखाना बना दिया गया, लोकतंत्र को पूरी तरह से दबा दिया गया। उन्होंने आगे कहा कि, अपने संविधान की रक्षा करते हुए, भारत के लोकतंत्र की, लोकतांत्रिक परंपराओं की रक्षा करते हुए, देशवासी संकल्प लेंगे कि, भारत में दोबारा कोई ऐसा करने की हिम्मत न कर सके जो 50 साल पहले किया गया था। हम जीवंत लोकतंत्र का संकल्प लेंगे। इसके साथ ही पीएम ने आगे कहा कि, हम भारत के संविधान के निर्देशों के अनुसार सामान्य लोगों के सपनों को पूरा करने का संकल्प लेंगे।

पीएम मोदी के बयान पर खडगे का पलटवार

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खडगे ने पीएम मोदी के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि, आप ( पीएम मोदी ) हमें 50 साल पुराने आपातकाल की याद दिला रहे हैं, लेकिन पिछले 10 साल के अघोषित आपातकाल को भूल गए हैं, जिसे लोगों ने समाप्त किया था। खडगे ने आगे कहा कि, लोगों ने मोदी जी के खिलाफ जनादेश दिया है। इसके बावजूद अगर वह प्रधानमंत्री बन गए हैं तो उन्हें काम करना चाहिए। इसके साथ ही कांग्रेस प्रमुख ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में आगे कहा कि, विपक्ष और भारत जनबंधन संसद में आम सहमति चाहते हैं, हम सदन में, सड़कों पर और सबके सामने लोगों की आवाज उठाते रहेंगे।