H

माफिया मुख्तारी अंसारी की हार्ट अटैक से मौत, मऊ, गाजीपुर और बांदा में धारा 144 लागू

By: Richa Gupta | Created At: 29 March 2024 09:22 AM


माफिया से राजनेता बने मुख्तार अंसारी की गुरुवार रात मौत हो गई। मुख्तार की बांदा जेल में शाम को तबीयत अचानक खराब हो गई, जिसके बाद उसे रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, लेकिन यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

banner
माफिया से राजनेता बने मुख्तार अंसारी की गुरुवार रात मौत हो गई। मुख्तार की बांदा जेल में शाम को तबीयत अचानक खराब हो गई, जिसके बाद उसे रानी दुर्गावती मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, लेकिन यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मुख्तार 2005 से जेल में बंद था। मेडिकल कॉलेज के आसपास कड़ी सुरक्षा की गई। अस्पताल के अंदर किसी को भी नहीं जाने दिया जा रहा है। पूर्व सांसद मुख्तार अंसारी आईसीयू में भर्ती थे। डीएम और एसपी खुद हालात का जायजा लेने के लिए मेडिकल कॉलेज पहुंचे थे। इधर, मुख्तार अंसारी का पूरा परिवार गाजीपुर से बांदा के लिए रवाना हो गया है। मऊ, गाजीपुर और बांदा में धारा 144 लागू कर दी गई है।

दो दिन पहले भी बिगड़ी थी तबीयत

इससे पहले डॉक्टरों ने मुख्तार की हालत क्रिटकल बताई थी। मुख्तार अंसारी को कड़ी सुरक्षा के बीच अस्पताल ले जाया गया था। जेल में बंद पूर्व सांसद व बाहुबली नेता मुख्‍तार अंसारी को दिल का दौरा पड़ने से तबीयत बिगड़ी थी। सूचना मिलते ही जेल के कर्मचारी मुख्‍तार को आनन फानन में बांदा के मेडिकल कॉलेज लेकर गए थे। बता दें कि, दो दिन पहले ही मुख्तार को पेट में गैस व यूरिन इन्फेक्शन की शिकायत के चलते मेडिकल कॉलेज अस्‍पताल जे जाया गया था।

पिता की मौत को हत्या करार दिया

कासगंज जेल में बंद सुभासपा विधायक और मुख्तार अंसारी के बड़े बेटे अब्बास अंसारी को उनके पिता की मौत की खबर जेल में दी गई। जेल अधीक्षक विजय विक्रम सिंह ने उन्हें यह दुखद समाचार दिया। पिता की मौत की खबर सुनते ही अब्बास अंसारी फूट-फूट कर रोने लगा। वहीं छोटे बेटे उमर अंसारी ने पिता की मौत को हत्या करार दिया है।