H

पर्यटकों के लिए आज से खुलेगा हिमाचल का एकमात्र ट्यूलिप गार्डन

By: Sanjay Purohit | Created At: 02 February 2024 02:14 PM


हिमाचल प्रदेश का एकमात्र ट्यूलिप गार्डन आज से फिर पर्यटकों तथा आगंतुकों के लिए खुल जाएगा। पालमपुर में हिमालय जैव संपदा प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा प्रदेश का प्रथम तथा देश का दूसरा ट्यूलिप गार्डन विकसित किया गयां है.

banner

हिमालय जैव संपदा प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा विकसित किया गयां ट्यूलिप गार्डन

हिमाचल प्रदेश का एकमात्र ट्यूलिप गार्डन आज से फिर पर्यटकों तथा आगंतुकों के लिए खुल जाएगा। पालमपुर में हिमालय जैव संपदा प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा प्रदेश का प्रथम तथा देश का दूसरा ट्यूलिप गार्डन विकसित किया गयां है जिसे संस्थान द्वारा 2 फरवरी को पर्यटकों तथा आगंतुकों के लिए खोलने का निर्णय लिया गया है। गत वर्ष 2 अप्रैल को इस ट्यूलिप गार्डन को पर्यटकों तथा आगंतुकों के लिए बंद कर दिया गया था। ट्यूलिप के रंग-बिरंगे पुष्पों के मुरझा जाने के बाद संस्थान ने यह निर्णय लिया था। ट्यूलिप एक निश्चित समयावधि के लिए ही खिलते हैं। ऐसे में इस अवधि के पश्चात गार्डन में फूल मुरझा जाते हैं।

कई पर्यटक तथा आगंतुक ट्यूलिप गार्डन को देखने पहुंचेगे

गत वर्ष लगभग 60000 से अधिक पर्यटक तथा आगंतुक ट्यूलिप गार्डन को देखने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भी हिमालय जैव संपदा प्रौद्योगिकी संस्थान पहुंचकर ट्यूलिप गार्डन को निहारा था। ट्यूलिप गार्डन में रंग-बिरंगे फूलों की 21 पंक्तियां हैं तथा इस गार्डन में 11 विभिन्न किस्म के 50000 ट्यूलिप पुष्प गत वर्ष लगाए गए थे जबकि प्रथम वर्ष इसमें 28000 ट्यूलिप पुष्प लगाए गए थे।

रंग-बिरंगे ट्यूलिप पुष्प अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए भेजे गए थे

22 जनवरी को अयोध्या में भगवान श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भी हिमालय जैव प्रौद्योगिकी संस्थान द्वारा रंग-बिरंगे ट्यूलिप पुष्प प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के लिए भेजे गए थे। विदित रहे कि प्रदेश व देश का प्रथम ट्यूलिप गार्डन जम्मू-कश्मीर के कश्मीर में विकसित किया गया था। इसके पश्चात हिमालय जब संपदा प्रौद्योगिकी संस्थान के प्रयासों से पालमपुर में भी ट्यूलिप गार्डन विकसित किया गया है।