H

Rajasthan News: राठौड़ बोले- पार्टी में आते ही भाटी का ज्ञान बढ़ा, राहुल कंस्वा को लेकर कही ये बड़ी बात

By: payal trivedi | Created At: 25 June 2024 07:44 AM


भाजपा के पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी के ‘टिकट ठीक से नहीं बंटे’ वाले बयान पर पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने तंज कसा। कहा- वे (देवी सिंह) ताजा-ताजा पार्टी में आए हैं।

bannerAds Img
Jaipur: भाजपा के पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी के ‘टिकट ठीक से नहीं बंटे’ वाले बयान पर पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र राठौड़ ने तंज कसा। कहा- वे (देवी सिंह) ताजा-ताजा पार्टी में आए हैं। उनका यकायक ज्ञान बढ़ गया है। कस्वां अभी इतने बड़े नेता नहीं हैं कि उनका टिकट कटने मात्र से पांच-पांच संसदीय क्षेत्र में पार्टी चुनाव हार जाए।

कस्वां राहुल की गोद में जाकर बैठे

राठौड़ मंगलवार को अलवर में देश में आपातकाल के 50 साल पूरे होने पर भाजपा कार्यालय आए थे। लोकसभा चुनाव में राजस्थान से पार्टी की सीटें कम होने और सांसद राहुल कस्वा का टिकट काटने के सवाल पर उन्होंने कहा- टिकट देना नहीं देना संसदीय बोर्ड तय करता है। टिकट जिसे भी मिलता वे उसके लिए काम करते। चाहे राहुल कस्वा हो या कोई और…राठौड़ ने कहा- बीजेपी ने कस्वां परिवार को 14 बार लोकसभा, विधानसभा, जिला प्रमुख व प्रधान का टिकट दिया। एक बार टिकट नहीं मिला और राहुल गांधी की गोद में जाकर बैठ गए। जिस राहुल गांधी को वे खुद राहुल बाबा बोलते थे। अब उनकी गोद में बैठे हैं। चूरू में हार को मैंने खुद की जिम्मेदारी मानते हुए स्वीकार किया है। रही बात चूरू के कारण अन्य सीट हारने की तो राहुल कस्वां इतने बड़े नेता नहीं है कि उनके कारण पांच-पांच सीट प्रभावित हुई होंगी।

बोले- बारिश में ओलों जैसे जिले टपक पड़े

राठौड़ ने कहा कि राजनीति संभावना का खेल है। इस बार राजस्थान में सीट कम होने का कारण अलग हैं। कई बार नारों पर कुछ लोग विश्वास कर लेते हैं। जैसे इस बार आरक्षण व संविधान बदलने की झूठी बातें फैलाई गई। किसान आंदोलन का पार्टी को कुछ नुकसान हुआ है। इन सब पर आलाकमान ने विश्लेषण किया है। संसदीय चुनाव में एक सीट का चुनाव अहम नहीं है। दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री बन गए हैं। ऐसा इतिहास में दूसरी बार हुआ ह। वहीं भजनलाल जैसे संगठन के कार्यकर्ता को सीएम बना दिया। राठौड़ ने देवी सिंह राठौड़ के भाजपा में गलत टिकट वितरण के बयान पर कहा- भाटी नए-नए आए हैं। उनके बयानों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। उन्होंने पिछली सरकार के जिले बनाने को लेकर कहा- जैसे बारिश में ओले गिरते हैं वैसे ही जिले टपक पड़े। अब तक यह पता नहीं चला है कि कोटपूतली व बहरोड़ में से कौनसा जिला है। इस पर समीक्षा होनी चाहिए और होगी।

जिलों की समीक्षा होगी, अब तक नहीं पता बहरोड़ जिला या कोटपूतली

अलवर में बढ़ते हुए अपराध पर राठौड़ ने कहा कि बीजेपी सरकार को बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था विरासत में मिली है। अलवर तो साइबर क्राइम का कैपिटल हो गया था। यहां मूक बधिर बालिक से रेप हुआ था। यहां मंदिर तोड़ने का मामला हुआ था। अब गैंगस्टर की कमर तोड़ने का काम होगा। एक बुजुर्ग वकील के सुसाइड के मामले में कहा कि पानी की किल्लत हो सकती है। लेकिन पानी की कमी से कोई सुसाइड नहीं करता है। अब अलवर का नेतृत्व सक्षम व्यक्ति के हाथ में है। अलवर में यमुना का पानी लाने का काम भी होगा। इस दौरान उनके साथ अलवर जिलाध्यक्ष अशोक गुप्ता , दीपक पंडित सहित कई नेता व कार्यकर्ता मौजूद थे।