H

मध्यप्रदेश में अब 30 की जगह 15 वर्ष में प्रोफेसर बन सकेंगे चिकित्सक, सीएम शिवराज ने कहा

By: Ramakant Shukla | Created At: 29 August 2023 01:50 AM


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को चिकित्सकों की सबसे बड़ी मांग डायनामिक एश्योर्ड कैरियर प्रोग्राम (डीएसीपी) स्कीम लागू करने के साथ सभी लंबित मांगों को पूरा करने की घोषणा कर उन्हें रक्षा बंधन त्योहार पर बड़ी सौगात दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल कॉलेजों के चिकित्सकों को अब तक आठ, 16 और 30 वर्ष में पदोन्नति दी जा रही है लेकिन अब हम इसे बदलने जा रहे हैं।

bannerAds Img
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को चिकित्सकों की सबसे बड़ी मांग डायनामिक एश्योर्ड कैरियर प्रोग्राम (डीएसीपी) स्कीम लागू करने के साथ सभी लंबित मांगों को पूरा करने की घोषणा कर उन्हें रक्षा बंधन त्योहार पर बड़ी सौगात दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल कॉलेजों के चिकित्सकों को अब तक आठ, 16 और 30 वर्ष में पदोन्नति दी जा रही है लेकिन अब हम इसे बदलने जा रहे हैं।

चिकित्सकों को अब तक आठ, 16 और 30 वर्ष में पदोन्नति दी जा रही

यह पदोन्नति पांच, 10 और 15 वर्ष की अवधि पूर्ण करने पर मिल जाएगी। इसके लागू होने के बाद असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर भर्ती हुए चिकित्सक 15 वर्ष में पदोन्नति पाकर प्रोफेसर बन जाएंगे। मुख्यमंत्री ने संविदा चिकित्सकों को नियमित जैसा लाभ और भत्ते, 2016 से सातवें वेतनमान का लाभ व नए सिरे से एनपीए लागू करने का भरोसा भी दिया है। जिसमें मुख्यमंत्री में उनकी लंबित मांगों पर मुहर लगा दी। मालूम हो कि अब मप्र यह स्कीम लागू करने वाला छठवां राज्य होगा।

Read More: एमपी में 450 रुपये में ही पड़ेगा लाड़ली बहनों को सावन में लिए LPG सिलेंडर का मूल्य, सितंबर में होगा भुगतान