H

Loksabha Election: डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे बने राजस्थान के प्रदेश चुनाव प्रभारी, दो सह प्रभारियों की भी नियुक्ति, सतीश पूनिया को मिली ये जिम्मेदारी

By: payal trivedi | Created At: 21 March 2024 02:08 PM


लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र बीजेपी ने राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे को प्रदेश का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया हैं।

banner
Jaipur: लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र बीजेपी ने राष्ट्रीय कार्यसमिति (Loksabha Election) के सदस्य डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे को प्रदेश का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया हैं। इनके साथ विजया राहटकर और पूर्व सांसद प्रवेश वर्मा को राजस्थान में सह-प्रभारी नियुक्त किया हैं। विधानसभा चुनाव में केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी को प्रदेश का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया गया था। लेकिन अब प्रह्लाद जोशी खुद कर्नाटक के धारवाड़ से लोकसभा चुनाव लड़ रहे है। ऐसे में बीजेपी ने संगठन का लंबा अनुभव रखने वाले डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे को राजस्थान में प्रदेश चुनाव प्रभारी नियुक्त किया हैं।

सहस्त्रबुद्धे को माना जाता है पार्टी का थिंक टैंक

मूलत महाराष्ट्र से आने वाले डॉ विनय सहस्त्रबुद्धे वर्तमान में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य हैं। वहीं इससे पहले वे महाराष्ट्र से राज्यसभा सदस्य भी रह चुके है। पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद पर भी उन्होंने काम किया हैं। उन्हें पार्टी का थिंक टैंक भी माना जाता हैं।

दो सह प्रभारियों की भी नियुक्ति

प्रदेश चुनाव प्रभारी के साथ-साथ बीजेपी ने राजस्थान में दो सह प्रभारियों की भी नियुक्ति की हैं। पहले से राजस्थान में प्रदेश सह प्रभारी के पद पर काम कर रही राष्ट्रीय मंत्री विजया राहटकर को पार्टी ने प्रदेश चुनाव सह प्रभारी की जिम्मेदारी भी सौंपी हैं। राहटकर भी महाराष्ट्र मूल की नेता हैं। वहीं लंबे समय से राजस्थान में प्रदेश सह प्रभारी के पद पर काम कर रही हैं। ऐसे में उन्हें सहस्त्रबुद्धे के साथ प्रदेश चुनाव सह प्रभारी लगाया गया हैं। वहीं दूसरे सह प्रभारी के रूप में प्रवेश वर्मा को राजस्थान भेजा गया हैं। प्रवेश वर्मा दिल्ली से सांसद रह चुके है। दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिह वर्मा के बेटे हैं। युवा और जाट नेता के रूप में उनकी पहचान है। इस बार पार्टी ने उनका टिकट काट दिया था। उनकी जगह कंवलजीत शेरावत को पश्चिमी दिल्ली से टिकट दिया गया हैं।

सतीश पूनिया को सौंपी हरियाणा के प्रदेश चुनाव प्रभारी की जिम्मेदारी

राजस्थान बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष (Loksabha Election) सतीश पूनिया को पार्टी ने हरियाणा में प्रदेश चुनाव प्रभारी की जिम्मेदारी सौंपी हैं। अभी तक चर्चाएं थी कि पार्टी पूनिया को अजमेर लोकसभा सीट से टिकट दे सकती हैं। लेकिन पार्टी ने उन्हें नई जिम्मेदारी देकर इन चर्चाओं पर विराम लगा दिया हैं। सतीश पूनिया को पिछले साल हुए विधानसभा चुनावों में पार्टी ने आमेर विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया था। लेकिन वो चुनाव हार गए थे। उसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि पूनिया को पार्टी कोई बड़ी जिम्मेदारी दे सकती हैं। अरूण सिंह के पास राजस्थान के प्रदेश प्रभारी की जिम्मेदारी थी। लेकिन अब उन्हें आंध्रप्रदेश का प्रदेश चुनाव प्रभारी बना दिया गया हैं।

प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह को राजस्थान से किया बाहर

लंबे समय से राजस्थान के प्रदेश प्रभारी रहे राष्ट्रीय महासचिव अरूण सिंह को पार्टी ने राजस्थान से दूर कर दिया हैं। उन्हें बीजेपी ने आंध्रप्रदेश में प्रदेश चुनाव प्रभारी की नई जिम्मेदारी सौंपी हैं। विधानसभा चुनावों के बाद से ही अरूण सिंह राजस्थान में कम सक्रिय थे। संगठन महामंत्री चंद्रशेखर की राजस्थान से विदाई के बाद से ही लगातार यह कयास लगाए जा रहे थे कि अरूण सिंह को भी जल्द ही राजस्थान से हटाया जाएगा। हालांकि अभी तक राजस्थान के प्रदेश प्रभारी के पद बीजेपी ने किसी ओर की नियुक्ति नहीं की हैं।