H

भोजशाला में ASI सर्वे का सातवां दिन, नए गैजेट्स लेकर पहुंची टीम

By: Ramakant Shukla | Created At: 28 March 2024 11:11 AM


भोजशाला में एएसआई का सर्वे सातवें दिन भी जारी है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की टीम ने सुबह 7 बजकर 50 मिनट पर सर्वेक्षण के लिए प्रवेश किया। टीम अपने साथ अतिरिक्त इलेक्ट्रॉनिक गैजेट लेकर भी पहुंची। 17 सदस्यों की एएसआई की टीम के साथ मजदूर भी अंदर पहुंचे है, जिनकी संख्या लगभग 20 के करीब बताई जा रही है।

banner
भोजशाला में एएसआई का सर्वे सातवें दिन भी जारी है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की टीम ने सुबह 7 बजकर 50 मिनट पर सर्वेक्षण के लिए प्रवेश किया। टीम अपने साथ अतिरिक्त इलेक्ट्रॉनिक गैजेट लेकर भी पहुंची। 17 सदस्यों की एएसआई की टीम के साथ मजदूर भी अंदर पहुंचे है, जिनकी संख्या लगभग 20 के करीब बताई जा रही है।

4 टीम बनाई गई

भोजशाला में 4 टीम बनाकर अलग-अलग स्थान पर अलग-अलग कार्य किया जा रहा है। एक टीम मैपिंग का काम कर रही है, तो एक टीम नोट कर रही है। एक टीम खुदाई का काम देख रही है, वहीं एक टीम सभी टीमों के बीच समन्वय बनाकर सारे कार्यों की मॉनिटरिंग करने का काम देख रही है।

पत्थरों पर मिली कई आकृतियां

भोजशाला में खुदाई के दौरान भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) की टीम को करीब 20 पत्थर ऐसे मिले हैं, जिन पर कई आकृतियां अंकित है। हिंदू पक्ष का दावा है कि ये आकृतियां सनातन प्रतीक चिह्न हैं। परिसर में एएसआई टीम ने निर्धारित स्थलों की 10 फीट तक खुदाई कराई है। बुधवार को खुदाई के लिए दो नए स्थान भी चिह्नित किए गए। टीम ने मुख्य परिसर के बीचों-बीच स्थित हवन कुंड का भी परीक्षण किया। लाल पत्थरों से बनी दीवारों और स्तंभ की भी बारीकी से परीक्षण किया जा रहा है। जरूरत पड़ी तो टीम कार्बन डेटिंग कराएगी। एएसआई सर्वे में खोदाई के दौरान जो पत्थर और अन्य अवशेष मिले हैं, उनको टीम ने सुरक्षित किया है। इनके नमूने जांच के लिए भेज जाएंगे। हिंदू पक्ष के गोपाल शर्मा ने दावा किया है कि ये अवशेष सीधे तौर पर मंदिर और सनातनी संस्कृति के प्रमाण हैं। इससे हिंदू समाज में उत्साह है।