H

DPAP ने किया एलान - गुलाम नबी आजाद अनंतनाग-राजोरी सीट से लड़ेंगे चुनाव

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 03 April 2024 11:44 AM


साल 2022 में देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस से अलग होकर गुलाम नबी आजाद ने जम्मू कश्मीर में खुद की पार्टी बनाई, जिसे नाम मिला डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी।

banner
लोकसभा चुनाव का शंखनाद हो चुका है। सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने चुनाव प्रचार भी शुरू कर दिया है। वहीं जम्मू-कश्मीर की 5 लोकसभा सीटों में से सबसे हॉट सीट माने जाने वाली अनंतनाग राजोरी सीट पर मुकाबला रोचक होने जा रहा है। डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी (डीपीएपी) के अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद अनंतनाग-राजोरी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। यह घोषणा डीपीएपी के कोषाध्यक्ष ताज मोहिउद्दीन ने श्रीनगर में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान की।

साल 2022 में गुलाम नबी आजाद ने बनाई थी अपनी पार्टी

साल 2022 में देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस से अलग होकर गुलाम नबी आजाद ने जम्मू कश्मीर में खुद की पार्टी बनाई, जिसे नाम मिला डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी। पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद ने उधमपूर-डोडा सीट से जीएम सरूरी को मैदान में उतारा है। ऐसे में उनकी पार्टी से अब तक 2 प्रत्याशी जम्मू-कश्मीर के लोकसभा चुनावी मैदान में सामने आ चुके हैं।

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने इस सीट से मियां अल्ताफ को मैदान में उतारा है

डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव आजाद पार्टी (डीपीएपी) के अध्यक्ष गुलाम नबी आजाद के अनंतनाग सीट से लड़ने की घोषणा नेशनल कॉन्फ्रेंस के इस सीट से उम्मीदवार के एलान के एक दिन बाद की गई है। नेशनल कॉन्फ्रेंस (नेकां) ने इस सीट से मौजूदा सांसद हसनैन मसूदी का टिकट काट कर गुज्जर-पहाड़ी नेता मियां अल्ताफ को मैदान में उतारा है। आपको बता दें कि, 66 वर्षीय अल्ताफ 5 बार विधायक और फारूक अब्दुल्ला और उमर अब्दुल्ला सरकार में पूर्व मंत्री रहे हैं।