H

Himachal Rain: प्रदेश की 115 सड़कें बंद, 212 ट्रांसफॉर्मर हुए ठप... हिमाचल में 6 और 7 जुलाई को भारी बारिश का अलर्ट

By: payal trivedi | Created At: 04 July 2024 08:59 AM


हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण जलभराव और भूस्खलन जैसी स्थिति पैदा हो गई है। इसके कारण प्रदेश में 115 सड़कें वाहनों के आवागमन के लिए बंद कर दी गई हैं।

bannerAds Img
शिमला: हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में भारी बारिश के कारण जलभराव और भूस्खलन जैसी स्थिति पैदा हो गई है। इसके कारण प्रदेश में 115 सड़कें वाहनों के आवागमन के लिए बंद कर दी गई हैं। शिमला मौसम कार्यालय ने गुरुवार को ऑरेंज अलर्ट जारी किया, जिसमें शुक्रवार तक अलग-अलग स्थानों पर आंधी और बिजली गिरने के साथ भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र के अनुसार, मंडी में 107, चंबा में चार, सोलन में तीन और कांगड़ा जिले में एक सहित 115 सड़कें बारिश के बाद वाहन यातायात के लिए बंद हैं और 212 ट्रांसफॉर्मर बाधित हैं।

रास्तों के बीच दरारें

इसी बीच, चंडीगढ़-मनाली फोर-लेन सड़क के मंडी से पंडोह के बीच एक हिस्से में दरारें आ गई हैं और यह धंसना शुरू हो गया है, जिसके कारण अधिकारियों को बुधवार से केवल एक तरफा यातायात की अनुमति देने के लिए मजबूर होना पड़ा। स्थानीय लोगों का कहना है कि लाखों रुपअ खर्च कर रिटेनिंग वॉल का निर्माण कराया गया था, लेकिन वह धंसने लगी है और करीब दो फीट तक नीचे चली गयी है, जिससे निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहे हैं।

छह और सात जुलाई को भारी बारिश

प्रोजेक्ट मैनेजर राज शेखर ने कहा कि घटनास्थल पर टारिंग का काम युद्ध स्तर पर चल रहा है। वहीं, मौसम विभाग ने शनिवार और रविवार (6 और 7 जुलाई) को भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। इन दिनों तेज हवाएं और बारिश के कारण वृक्षारोपण, बागवानी और खड़ी फसलों को नुकसान, कमजोर संरचनाओं को आंशिक नुकसान, कच्चे घरों और झोपड़ियों को मामूली नुकसान होने की आशंका जताई है। राज्य की राजधानी शिमला में कई पेड़ उखड़ गए, जहां बुधवार शाम से 84 मिमी बारिश हुई है और नालों का मलबा सड़कों पर बिखरा हुआ है।