H

लालू परिवार को परेशान किया जा रहा - राहुल गांधी

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 31 January 2024 12:25 PM


राहुल गांधी ने आगे NDA सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, बड़े दुख के साथ कहना पड़ता है कि, आज इस भूमि पर मौकापरस्ती और लोभ-लालच की राजनीति हावी हो गई है।

banner
राहुल गांधी ने बिहार में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान बीजेपी और पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि, लालू जी के परिवार को भी परेशान किया जा रहा है। झारखंड के सीएम के ऊपर भी ED का दुरुपयोग कर सरकार को अस्थिर करने का खेल खेला जा रहा है। राहुल गांधी ने जनता से कहा कि, आपसे अपील है कि, ऐसा करने वालों को सजा ज़रूर दीजिएगा।

राहुल गांधी ने साधा पीएम मोदी पर निशाना

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, पिछले 10 सालों में मोदी जी ने बेरोजगारी, महंगाई जैसे सवालों पर जो वायदे किए थे, उसके उलट काम किया। ये भाजपा और आरएसएस वाले बराबरी की बात केवल भाषणों में करती है। हकीकत में वो अमीरों को और अमीर और गरीबों को और गरीब बनाती है। कांग्रेस सांसद ने आगे कहा कि, उद्योगपतियों को मालामाल करने के लिए सालों में बने देश की संपत्ति को उनके हवाले करने में संकोच नहीं करती।

बिहार लोकतंत्र की जन्म भूमि है

उन्होंने कहा कि, आगामी चुनाव संविधान और लोकतंत्र बचाने के लिए लड़ा जाने वाला चुनाव होगा। ग़रीबी, शिक्षा, स्वास्थ, रोज़गार ये देश के वास्तविक मसले हैं, हम इन्हीं की बात करते हैं। और इन्हें ही पूरा करने के लिए लोगों से वोट मांगते हैं। आगे जनता से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि, बिहार लोकतंत्र की जन्म भूमि है। भगवान बुद्ध को यहीं ज्ञान मिला। यही महावीर और श्री गुरु गोबिंद सिंह की जन्मभूमि है। यह भूमि, डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद, मजहरूल हक, बाबू जगजीवन राम, जेपी, और कर्पूरी ठाकुर से लेकर अनगिनत दिग्गजों एवं स्वतंत्रता सेनानियों की है।

हमारे पैर छोटे मोटे कारणों से डगमगाने वाले नहीं

राहुल गांधी ने आगे NDA सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, बड़े दुख के साथ कहना पड़ता है कि, आज इस भूमि पर मौकापरस्ती और लोभ-लालच की राजनीति हावी हो गई है। जो बिहार विश्व को प्रकाश देता था, उसकी पहचान अब आयाराम- गयाराम की राजनीतिक प्रयोगशाला बन गयी है, लेकिन हमारे पैर छोटे मोटे कारणों से डगमगाने वाले नहीं। कांग्रेस सांसद ने आगे कहा कि, कोई रहे या जाए, हम अपने उसूलों को छोड़ने वाले नहीं हैं। हम में महात्मा गांधी, सरदार पटेल, राजेंद्र बाबू और मौलाना आज़ाद की रूह है। हम इन्हें क़ायम रखने के लिए आख़िरी सांस तक लड़ेंगे।