H

9 फरवरी को मनाई जाएगी 2024 की पहली मौनी अमावस्या, जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

By: Sanjay Purohit | Created At: 08 February 2024 11:44 AM


सनातन धर्म में मौनी अमावस्या का बहुत महत्व है। माघ माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को माघी अमावस्या या मौनी अमावस्या भी कहा जाता है। माना जाता है कि जो लोग इस दिन किसी पवित्र नदी में स्नान करते है.

banner
सनातन धर्म में मौनी अमावस्या का बहुत महत्व है। माघ माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या को माघी अमावस्या या मौनी अमावस्या भी कहा जाता है। माना जाता है कि जो लोग इस दिन किसी पवित्र नदी में स्नान करते है, उन्हें मोक्ष की प्राप्ति होती है। शास्त्रों में इस दिन मौन रहकर स्नान और दान करने का विशेष महत्व है। साल 2024 की पहली मौनी अमावस्या 9 फरवरी को मनाई जा रही है। इस दिन भगवान शिव और श्री हरि की पूजा करने से जातक को सारी परेशानियों से मुक्ति मिलती है।

मौनी अमावस्या 2024 शुभ मुहूर्त

1. कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि आरंभ- 9 फरवरी को सुबह 8 बजकर 2 मिनट पर

2. अमावस्या तिथि का समापन- 10 फरवरी को सुबह 4 बजकर 28 मिनट पर

3. स्नान-दान मुहूर्त - सुबह 05 बजकर 21 मिनट से सुबह 06 बजकर 13 मिनट तक

मौनी अमावस्या का महत्व

सभी अमावस्या तिथियों में मौनी अमावस्या को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन स्नान-दान और मौन व्रत रखने का भी विशेष महत्व है। ऐसा करने से जातक को अक्षय पुण्यों की प्राप्ति होती है। वहीं इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने का भी विधान है। इस रोज खास तौर पर सूर्य को अर्घ्य देने से मन की सब मनोकामनाएं पूरी होती हैं। मौनी अमावस्या के दिन पितरों का तर्पण करने से पूर्वजों को मुक्ति की प्राप्ति होती है।

मौनी अमावस्या पर करें इन चीजों का दान

मौनी अमावस्या पर चावल का दान करना बहुत ही शुभ माना जाता है। इस दिन चावल का दान करने से विष्णु जी की कृपा बनी रहती है और शुभ फलों की प्राप्ति होती है।