H

PM मोदी के जन्मदिन पर केंद्र सरकार करेगी 'आयुष्मान भव:' कार्यक्रम की शुरुआत, जानें स्कीम के फायदे

By: Richa Gupta | Created At: 11 September 2023 10:46 AM


आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है। जो हर लाभार्थी परिवार को सालाना 5 लाख रुपये की हेल्थ कवरेज देती है।

bannerAds Img
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर केंद्र सरकार इस साल 17 सितंबर को आयुष्मान भव: कार्यक्रम की शुरुआत करेगी। जिससे अंतिम छोर तक के लोगों और हर लाभार्थी तक सरकार की चलाई जा रही सभी स्वास्थ्य योजनाओं की डिलीवरी सुनिश्चित की जा सके। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि, इस कार्यक्रम के दौरान शिविर लगाए जाएंगे और 60,000 लोगों को आयुष्मान भारत कार्ड दिए जाएंगे। आने वाले दिनों में हम स्वास्थ्य सेवाओं और कार्यक्रमों की बेहतर पहुंच के लिए इस कार्यक्रम को और ज्यादा बार चलाएंगे। आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है। जो हर लाभार्थी परिवार को सालाना 5 लाख रुपये की हेल्थ कवरेज देती है।

भारत का लक्ष्य 2025 के अंत तक टीबी को खत्म करना है

गौरतलब है कि पीएम मोदी का जन्म गुजरात के वडनगर में हुआ था जो उत्तरी गुजरात के मेहसाणा जिले का एक छोटा सा शहर है। मनसुख मंडाविया ने आगे कहा कि पिछले साल आप सबने देखा कि पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर हमने ट्यूबरकुलोसिस (TB) के मुद्दे पर जोर दिया था। इससे पहले पीएम मोदी ने कहा था कि दुनिया का टीबी को खत्म करने का लक्ष्य 2030 है लेकिन भारत का लक्ष्य 2025 के अंत तक टीबी को खत्म करना है। पिछले साल लगभग 70,000 लोग नि-क्षय मित्र बने और टीबी रोगियों को अपनाया, जो अब बढ़कर 1 लाख हो गया है।

देश से टीबी को खत्म किया जाएगा

मंडाविया ने आगे कहा कि इन टीबी रोगियों को गैर सरकारी संगठनों, निजी तौर पर लोगों, राजनीतिक दलों और कॉर्पोरेट ने अपनाया है। इनको हर महीने पोषक तत्व किट दी जा रही है और टीबी मरीजों को हर संभव सहायता दी जा रही है। हमें भरोसा है कि ‘लोकभागीदारी’ की मदद से देश से टीबी को खत्म किया जाएगा। इससे पहले 2022 में बीजेपी ने देश को टीबी मुक्त बनाने के लिए एक साल का कार्यक्रम चलाया था। जिसके तहत हर कोई एक टीबी मरीज को गोद लेगा और एक साल तक उसकी देखभाल करेगा। 2025 तक टीबी मुक्त भारत के पीएम मोदी के संकल्प को पूरा करने के लिए एक टीबी रोगी को एक साल के लिए गोद लेने की योजना तैयार की गई है।

Read More: सेंगोल भेंट करने वाले पुजारी ने कहा - '2024 में फिर PM बनें नरेंद्र मोदी'