H

पूर्व सीएम कमलनाथ ने NEET को लेकर अब तक केंद्र की कार्रवाई को खानापूर्ति बताया

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 23 June 2024 10:04 AM


कमलनाथ ने कहा कि, इन अभ्यर्थियों को न्याय दिलाने का एक ही तरीका है कि NEET की परीक्षा को रद्द कर नए सिरे से आयोजित किया जाए।

bannerAds Img
एमपी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष कमलनाथ ने NEET परीक्षा को लेकर केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। कमलनाथ ने अब तक की कार्रवाई को खानापूर्ति करार दिया है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने सोशल मीडिया एक्स (X) पर लिखा है कि, अब तक इतनी बात स्पष्ट हो चुकी है कि, NEET परीक्षा का पेपर लीक हुआ था और सरकार ने जिस तरह से NTA के महानिदेशक को हटाया है, परीक्षा में हुई कुछ गड़बड़ियों की जांच CBI को सौंपी है, उसे स्पष्ट है कि, सरकार ने भी पेपर लीक होना स्वीकार कर लिया है।

छात्रों को कोई भी न्याय मिलता प्रतीत नहीं होता

कमलनाथ ने अपने लेख में आगे लिखा है कि, सबसे बड़ा सवाल यह है कि, पेपर लीक होने से सबसे ज़्यादा नुकसान उन अभ्यर्थियों का हुआ है जो इस परीक्षा में शामिल हुए थे। सरकार की अब तक की कार्रवाई से अन्याय का शिकार हुए इन छात्रों को कोई भी न्याय मिलता प्रतीत नहीं होता। हो सकता है कि सरकार की कार्रवाई से परीक्षा में धांधली करने वाले कुछ लोग क़ानून के शिकंजे में आ जाएं लेकिन इससे उन छात्रों को कोई फायदा नहीं होगा जो योग्य होने के बावजूद NEET परीक्षा में सफल नहीं हो सके।

नए सिरे से परीक्षा करानी चाहिए

पूर्व पीसीसी चीफ ने आगे लिखा है कि, इन अभ्यर्थियों को न्याय दिलाने का एक ही तरीका है कि NEET की परीक्षा को रद्द कर नए सिरे से आयोजित किया जाए। सरकार को इसे प्रतिष्ठा का प्रश्न बनाने के बजाय अभ्यर्थियों को न्याय देने का प्रश्न बनाना चाहिए और नए सिरे से परीक्षा करानी चाहिए।