H

रिकॉर्ड हाई के बाद थोड़ा लो हुआ UPI ट्रांजैक्शन

By: Sanjay Purohit | Created At: 01 July 2024 09:45 AM


मई में 1,404 करोड़ ट्रांजैक्शन्स के रिकॉर्ड हाई लेवल को छूने के बाद, जून में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) लेनदेन में मामूली गिरावट देखी गई।

bannerAds Img
मई में 1,404 करोड़ ट्रांजैक्शन्स के रिकॉर्ड हाई लेवल को छूने के बाद, जून में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) लेनदेन में मामूली गिरावट देखी गई। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, जून 2024 में UPI वॉल्यूम 1,389 करोड़ हो गया। इस दौरान 20.07 लाख करोड़ रुपए के ट्रांजैक्शन देखने को मिले। यह मई की तुलना में वॉल्यूम में 1 फीसदी और वैल्यू में 2 फीसदी की गिरावट थी।

हालांकि, जून 2023 के मुकाबले, UPI वॉल्यूम में 49 फीसदी और वैल्यू में 36 फीसदी की बढ़ोतरी हुई। अप्रैल 2016 में UPI के शुरू होने के बाद मई 2024 में वॉल्यूम और वैल्यू दोनों के मामले में ट्रांजैक्शन सबसे ज्यादा हुए थे।।

IMPS ट्रांजैक्शन

इमीडिएट पेमेंट सर्विस (IMPS) ट्रांजैक्शन वॉल्यूम जून में 51.7 करोड़ पर था, जो मई के 55.8 करोड़ के मुकाबले 7 फीसदी कम था। वैल्यू के लिहाज से, IMPS ट्रांजैक्शन जून में 5.78 ट्रिलियन रुपए (5.78 लाख करोड़ रुपए) पर था, जो मई के ₹6.06 ट्रिलियन के मुकाबले 5 फीसदी कम था। अप्रैल में UPI 55 करोड़ वॉल्यूम और 5.92 लाख करोड़ रुपए की वैल्यू पर था। जून 2023 के मुकाबल, वॉल्यूम में 10 फीसदी और वैल्यू में 15 फीसदी की वृद्धि हुई।

FASTag ट्रांजैक्शन

FASTag ट्रांजैक्शन में भी जून के दौरान 4 फीसदी की गिरावट देखी गई, जो मई में 34.7 करोड़ से घटकर 33.4 करोड़ हो गए। वैल्यू के लिहाज से, यह जून में 2 फीसदी की गिरावट के साथ 5,780 करोड़ रुपए पर पहुंच गया, जो मई में 5,908 करोड़ रुपए था। अप्रैल में FASTag 32.8 करोड़ और 5,592 करोड़ रुपए पर था। जून 2023 की तुलना में, वॉल्यूम में 6 फीसदी और वैल्यू में 11 फीसदी की वृद्धि हुई।