H

कांग्रेस में आज 5 पावर सेंटर... पार्टी से इस्तीफा देकर संजय निरुपम ने गिनाए ये नाम

By: Ramakant Shukla | Created At: 04 April 2024 03:34 PM


पार्टी से निकाले जाने के बाद संजय निरुपम खुलकर कांग्रेस के विरोध में आ गए हैं। मुंबई में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से बिखर गई है। उन्होंने बताया कि किस तरह पार्टी में पांच पावर सेंटर्स बन गए हैं, जिनमें आपस में टकराव होता रहा है।

banner
पार्टी से निकाले जाने के बाद संजय निरुपम खुलकर कांग्रेस के विरोध में आ गए हैं। मुंबई में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरी तरह से बिखर गई है। उन्होंने बताया कि किस तरह पार्टी में पांच पावर सेंटर्स बन गए हैं, जिनमें आपस में टकराव होता रहा है। निरुपम ने कहा कि कांग्रेस में तीन पावर सेंटर तो गांधी परिवार के ही हैं। एक सोनिया गांधी, दूसरा राहुल गांधी और तीसरा प्रियंका वाड्रा। चौथा पॉवर सेंटर मल्लिकार्जुन खड़गे का है और पांचवां केसी वेणुगोपाल है। ये पॉवर सेंटर आपस में टकराते रहते हैं। बताया जा रहा है कि संजय निरुपम मुंबई उत्तर पश्चिम लोकसभा क्षेत्र से टिकट की उम्मीद लगाए बैठे थे। हालांकि, आगामी संसदीय चुनावों के लिए शिवसेना (यूबीटी) ने इस सीट से अपने उम्मीदवार का एलान कर दिया था। इसके बाद निरुपम ने महा विकास अघाड़ी (एमवीए) गठबंधन की सीट-बंटवारे की बातचीत के दौरान मुंबई की सीटें उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली पार्टी को देने के लिए महाराष्ट्र कांग्रेस नेतृत्व की आलोचना शुरू कर दी। इस पर बुधवार को कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों की सूची से निरुपम का नाम हटा दिया।

निरुपम के बारे में जानिए

निरुपम शिवसेना में भी रह चुके हैं। वे साल 2005 में शिवसेना छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे। साल 2009 के चुनाव में उन्होंने मुंबई उत्तर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2014 के लोकसभा चुनाव में निरुपम मुंबई उत्तर-पश्चिम सीट से चुनाव लड़े और बीजेपी के गोपाल शेट्टी से हार गए थे।