H

MP News: 40 हजार की रिश्वत मांग रहा था हवलदार, लोकायुक्त ने रंगे हाथों किया गिरफ्तार

By: TISHA GUPTA | Created At: 02 February 2024 03:06 PM


मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में एक पुलिस के हेड कांस्टेबल को 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है। लोकायुक्त संगठन के जरिये गुरुवार (1 फरवरी) को गोराबाजार थाने में पदस्थ हवलदार उर्मिलेश ओझा को 40 हजार की रिश्वत लेते हुए दबोचा गया। बाद में हवलदार के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे मुचलके पर रिहा कर दिया गया है। इस मामले में रिश्वत लेते पकड़े गये हवलदार को एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर लाइन हाजिर होने का आदेश दिया गया है।

banner

मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले में एक पुलिस के हेड कांस्टेबल को 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है। लोकायुक्त संगठन के जरिये गुरुवार (1 फरवरी) को गोराबाजार थाने में पदस्थ हवलदार उर्मिलेश ओझा को 40 हजार की रिश्वत लेते हुए दबोचा गया। बाद में हवलदार के खिलाफ मामला दर्ज कर उसे मुचलके पर रिहा कर दिया गया है। इस मामले में रिश्वत लेते पकड़े गये हवलदार को एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर लाइन हाजिर होने का आदेश दिया गया है।

लोकायुक्त एसपी संजय साहू के मुताबिक भोंगाद्वार, रिज रोड निवासी संदीप यादव ने लोकायुक्त संगठन को शिकायत देकर बताया था कि साल 2019 में उसने राजेन्द्र जायसवाल से जमीन का सौदा किया था। उस दौरान संदीप को उक्त व्यक्ति के जरिये कुछ रकम एडवांस के तौर पर दी गयी थी। लेकिन बाद में यह सौदा रद्द हो गया था। सौदा रद्द होने के बाद संदीप यादव ने राजेन्द्र जायसवाल को एडवांस के तौर पर ली गई रकम वापस नहीं लौटाई। रकम वापस नहीं मिलने पर राजेन्द्र ने गोराबाजार थाने में संदीप यादव के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

हवलदार रिश्वत के लिए दे रहा था धमकी

इस मामले में की जांच हवलदार उर्मिलेश ओझा को सौंपी गयी थी। जहां आरोपी हवलदार के जरिये इस मामले को रफा-दफा करने के लिए लिए एक लाख रुपये की रिश्वत की मांग की जा रही थी। शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत में बताया था कि आरोपी हवलदार के जरिये संदीप को लगातार धमकाया जा रहा था। इस दौरान हवलदार उर्मिलेश झा ने संदीप को जांच के नाम पर परेशान किया जा रहा था। उसे धमकी दी जा रही थी कि ली हुई रकम लौटाने के साथ ही उसे एक लाख रुपये चाहिए। हवलदार ने कहा कि रकम नहीं मिलने पर उसके खिलाफ मामला दर्ज कर देगा।

लोकायुक्त ने रंगे हाथों दबोचा

परेशान होकर हवलदार के जरिये रिश्वत मांगे जाने की शिकायत संदीप यादव ने लोकायुक्त संगठन से कर दी। इसके बाद लोकायुक्त टीम ने संदीप को हवलदार से बातचीत करने को कहा और सौदा 40 हजार में तय हुआ। उसके बाद गुरुवार (1 फरवरी) की शाम संदीप रिश्वत की रकम लेकर थाने पहुंचा और हवलदार को रकम देने के लिए बाहर बुलाया। थाने के बाहर जैसे ही संदीप ने हवलदार को रिश्वत दी लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया।

Read More: MP कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने ज्ञानवापी मामले पर दिया बयान, कहा- देश के 1000 से ज्यादा मंदिरों को मुगलों ने तोड़ा