H

शंभू बॉर्डर पर बिगड़े हालात: किसानों को रोकने के लिए पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

By: Sanjay Purohit | Created At: 13 February 2024 01:12 PM


फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी देने समेत अन्य मांगों को लेकर किसानों का जत्था शम्भू बॉर्डर पर पहुंचा। इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच तीखी झापड़ हुई। पुलिस ने किसानों को रोकने लिए आंसू गैस के गोले छोड़ दिए।

banner
फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी देने समेत अन्य मांगों को लेकर किसानों का जत्था शम्भू बॉर्डर पर पहुंचा। इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच तीखी झापड़ हुई। पुलिस ने किसानों को रोकने लिए आंसू गैस के गोले छोड़ दिए। जिससे बॉर्डर पर अफरा- तफरी का माहौल हो गया है। जिससे किसान इधर- उधर भागते हुए नजर आए। किसान अपनी मांग को लेकर दिल्ली जाना चाहते है। लेकिन हरियाणा के सभी बॉर्डर को सील कर दिया गया है। पंजाब के किसान मौके पर बॉर्डर पर डटे हुए है।

‘दिल्ली चलो' मार्च शुरू किया

‘ किसान नेताओं और दो केंद्रीय नेताओं के साथ बैठक बेनतीजा रहने के बाद पंजाब से किसानों ने मंगलवार को सुबह अपना ‘दिल्ली चलो' मार्च शुरू किया। किसानों की अंबाला-शंभू, खनौरी-जींद और डबवाली सीमाओं से दिल्ली की ओर कूच करने की योजना है। कई किसानों ने अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली के साथ फतेहगढ़ साहिब से सुबह करीब 10 बजे मार्च शुरू किया और वे शंभू सीमा के जरिए दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं। संगरूर में महल कलां से एक और समूह खनौरी सीमा के जरिए दिल्ली की ओर कूच कर रहा है। हरियाणा में प्राधिकारियों ने कंक्रीट के अवरोधक, लोहे की कीलों और कंटीली तारों का इस्तेमाल कर अंबाला, जींद, फतेहाबाद, कुरुक्षेत्र और सिरसा में कई स्थानों पर पंजाब के साथ राज्य की सीमाओं पर सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी है। पंजाब और हरियाणा की सीमाओं पर कई स्थानों पर पानी की बौछारें करने वाली गाड़ियों समेत दंगा रोधी वाहन भी तैनात किए गए हैं।