H

सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने देश में एक संविधान, एक प्रधान और एक निशान का संकल्प लिया था

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 23 June 2024 10:37 AM


उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने देश में एक संविधान, एक प्रधान और एक निशान का संकल्प लिया था। आज वो संकल्प हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है।

bannerAds Img
डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक देश में एक प्रधान, एक विधान, एक निशान के मुद्दे और भारत की अखंडता को लेकर 23 जून 1953 को अपना बलिदान दिया था। देश 1947 में आजाद हुआ और 1950 में संविधान लागू किया गया। इसके बाद तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने देश के संविधान में धारा-370 जोड़कर राष्ट्रीय अखंडता को गंभीर चोट पहुंचाने का कुत्सित प्रयास किया था।

वहीं डॉ. मुखर्जी उस समय सरकार में उद्योग व खाद्य मंत्री थे, लेकिन सरकार की मंशा को ध्यान में रखकर उन्होंने पद छोड़ दिया। देश की प्रतिष्ठा व अखंडता के लिए कश्मीर से धारा-370 हटाने के लिए आंदोलन शुरू किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भारतीय जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने देश में एक संविधान, एक प्रधान और एक निशान का संकल्प लिया था। आज वो संकल्प हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है। कश्मीर में धारा 370 को खत्म कर दिया गया है और कश्मीर आज भारत का अभिन्न अंग बन गया है। बीजेपी ने अपने घोषणापत्र में समान नागरिक संहिता का संकल्प लिया है और उसके साथ ही उत्तराखंड में इसकी शुरुआत हो गई है। समान नागरिक संहिता (UCC) उत्तराखंड में बिल बन चुका है और राष्ट्रपति द्वारा इसे मंजूरी मिल चुकी है और आज पूरे देश में इसे मान्यता मिल रही है।