H

Rajasthan News: बीजेपी के श्वेत पत्र पर भड़के Sachin Pilot, कहा- आपने 10 साल के कार्यकाल में क्या किया हैं?

By: payal trivedi | Created At: 11 February 2024 10:12 AM


कांग्रेस विधायक सचिन पायलट ने बीजेपी द्वारा यूपीए सरकार के 10 साल के कार्यकाल को लेकर लाए गए श्वेत पत्र पर तीखी टिप्पणी की है। पायलट ने कहा कि यूपीए सरकार को गए 10 साल हो गए, इन 10 वर्षों में बीजेपी ने क्या किया, जनता यह जानना चाहती है, उसे बताना चाहिए।

banner
Jaipur: कांग्रेस विधायक सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने बीजेपी द्वारा यूपीए सरकार के 10 साल के कार्यकाल को लेकर लाए गए श्वेत पत्र पर तीखी टिप्पणी की है। पायलट ने कहा कि यूपीए सरकार को गए 10 साल हो गए, इन 10 वर्षों में बीजेपी ने क्या किया, जनता यह जानना चाहती है, उसे बताना चाहिए। पायलट ने हाल ही में दो पूर्व पीएम को भारत रत्न दिए जाने की घोषणा का स्वागत किया। सचिन पायलट ने इस दौरान लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर भी बात की और कहा कि इंडिया गठबंधन मुद्दों की राजनीति करना चाहती है और मुद्दों की राजनीति पर चुनाव होना चाहिए।

'आपने 10 सालों में क्या किया है?'

पत्रकारों से बातचीत में पायलट ने शनिवार को कहा, ''आज ये श्वेत पत्र जारी कर रहे हैं। आप 10 साल से क्या कर रहे हैं यह जनता जानना चाहती है। आप 10 साल बाद यूपीए सरकार की नीतियों को कोस रहे हैं। आपने 10 सालों में क्या किया है ये बताएं। मनमोहन सिंह के कार्यकाल को खत्म हुए 10 साल हो गए हैं। इन 10 वर्षों में नई पीढ़ी आ गई है। उनके लिए आपने क्या किया है, ये बताएं।''

तीसरी अर्थव्यवस्था बनाने के दावे पर यह बोले पायलट

पायलट (Sachin Pilot) ने तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के बीजेपी के वादे पर कहा, ''आज अमीर और गरीब की खाई कल्पना से परे है। आप 80 करोड़ लोगों को सब्सिडाइज्ड खाना दे रहे हैं और कहते हैं कि तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएंगे। सरकार को चिंतन करना चाहिए कि केवल प्रचार और प्रसार करने से नहीं होगा, नीति निर्माण कर लोगों के जीवन को बेहतर बनाने की दिशा में काम करना चाहिए।''

अखबार में छपने के लिए बयान देते हैं योगी- पायलट

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के विधानसभा में दिए गए एक बयान को लेकर पायलट ने कहा, ''जो बयान यूपी के सीएम का आया है वह केवल अखबार में छपने के लिए देते हैं। आम लोगों के जीवन को बदलने की उनकी मंशा दिखती नहीं है। हमारा जो इंडिया गठबंधन है वह मुद्दों राजनीति करना चाहती है। मैं चाहता हूं कि चुनाव हों वह मुद्दों पर लड़ा जाए। लोगों की समस्या का निराकरण किया जाए और रोडमैप बनाया जाए।''