H

नीतीश कुमार जीवन की अंतिम पारी खेल रहे हैं - प्रशांत किशोर

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 30 January 2024 10:15 AM


बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोलते हुए जन सुराज अभियान के मुखिया प्रशांत किशोर ने कहा कि, नीतीश कुमार धूर्त हैं।

banner
नीतीश कुमार के नौंवी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही बिहार में NDA नीत नई सरकार का गठन हो गया है। प्रदेश में नई सरकार के बनते विपक्षी दल नीतीश कुमार पर हमलावर हैं। कोई नीतीश कुमार को अवसरवादी तो कोई पलटूराम तथा आयाराम-गयाराम कह रहा है। इन सबके बीच जन सुराज अभियान के मुखिया प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार पर एक बार फिर तीखा हमला किया है। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने ये भी कहा कि, यदि भारतीय जनता पार्टी अपने दम पर लड़ती तो अधिक फायदे में रहती।

नीतीश कुमार जीवन की अंतिम पारी खेल रहे हैं

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा कि, इंडिया ब्लॉक को धराशायी करने के लिये बीजेपी ने यह कदम उठाया है। भाजपा बिहार में अकेले लड़ती तो अधिक फ़ायदे में रहती। नीतीश को निशाने पर लेते हुए पीके ने कहा कि, नीतीश कुमार जीवन की अंतिम पारी खेल रहे हैं। वो कब क्या करेंगे किसी को नहीं पता। जनता ने उनको नकार दिया है, इसलिए वो अपनी कुर्सी बचाने के लिये कुछ भी कर सकते हैं।

नरेन्द्र मोदी के इर्द गिर्द होगा लोकसभा चुनाव

वहीं आगे 2024 के लोकसभा चुनाव को लेकर बड़ी भविष्यवाणी करते हुए हुए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा है कि, चुनाव में भारतीय जनता पार्टी/ NDA क्लीन स्वीप करेगा और एक ही मुद्दा होगा वो है- नरेन्द्र मोदी। उन्हीं के इर्द गिर्द होगा चुनाव। अभी कोई भी आसपास नहीं नजर आता। उन्होंने आगे कहा कि, बिहार में सिर्फ नीतीश कुमार ही नहीं बल्कि सभी पार्टी 'पलटूराम' हैं। पीके ने दावा किया कि, 2025 के विधानसभा चुनाव में ये गठबंधन भी नहीं चल पाएगा। इस घटना से बीजेपी को बड़ा नुकसान होगा। भाजपा अकेले लड़ती तो वो जीतने की स्थिति में रहती।

यदि आ गई तो मैं अपने काम से संन्यास ले लूंगा

बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर तीखा हमला बोलते हुए जन सुराज अभियान के मुखिया प्रशांत किशोर ने कहा कि, नीतीश कुमार धूर्त हैं। बिहार के लोगों को ठग रहे हैं। बिहार की जनता सूद सहित वापस करेगी। उन्होंने आगे कहा कि, लोकसभा चुनाव के बाद बीजेपी छोड़ देगी या उनके चेहरे को आगे करके लड़ेगी तो जनता इनको छोड़ देगी। नीतीश कुमार जिस गठबंधन में भी चुनाव लड़ें, अगले विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी को 20 सीटें भी नहीं मिलेगी। पीके ने आगे कहा कि, यदि आ गई तो मैं अपने काम से संन्यास ले लूंगा।