H

Please upgrade the app if you see a red line at the top. To upgrade the app, click on this line.

डेंगू के डंक से उत्तराखंड की जनता बेहाल, बढ़ते मामलों को लेकर सरकार सतर्क

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 17 September 2023 03:19 PM


स्वास्थ्य विभाग की तमाम कोशिशों के बाद भी इस बीमारी का मच्छर कहर बरपा रहा है। ऐसा कोई दिन नहीं बीत रहा जब डेंगू के नए मामले नहीं आ रहे हैं।

banner
उत्तराखंड में डेंगू का डंक लगातार गहराता ही जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की तमाम कोशिशों के बाद भी इस बीमारी का मच्छर कहर बरपा रहा है। ऐसा कोई दिन नहीं बीत रहा जब डेंगू के नए मामले नहीं आ रहे हैं। पहाड़ अक्सर डेंगू रोगों से अछूते रहते हैं। लेकिन मैदानी क्षेत्रों से यहां आ रहे लोगों के साथ ही बागेश्वर में भी डेंगू रोग दस्तक दे रहा है।

बागेश्वर में अबतक 15 केस सामने आ चुके हैं

आपको बता दें कि, बागेश्वर में अबतक 15 केस सामने आ चुके हैं। जिसमें से 7 डेंगू मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। लेकिन यहां के स्थानीय लोगों में डेंगू पॉजिटिव पाया जाना चिंताजनक विषय बना हुआ है। अब जिला प्रशासन भी इसे लेकर अलर्ट मोड पर आ गया है और जिले के सभी अस्पतालों में भी स्पेशल डेंगू वार्ड तैयार कर किए जा रहे हैं।

डेंगू के लक्षण इस प्रकार है

अगर डेंगू के लक्षण के बारे में बात करे, तो डेंगू बुखार के लक्षण संक्रमित मच्छर के काटने के 4 से 7 दिनों के भीतर नजर आ सकते हैं। जैसे, अचानक तेज बुखार आ जाना, सिर में आगे की और तेज दर्द होना, आंखों के पीछे दर्द और आंखों के हिलने से दर्द होना, मांसपेशियों (बदन) व जोडों में दर्द होना,

मच्छर जनित बीमारियों से बचने के उपाय इस प्रकार

1. नीम का पेड़ - नीम के पेड़ में अनेक बीमारियों की दवा होती हैं। नीम के पेड़ की पत्तियों को उबाल कर उसके पानी को छिड़कने से मच्छर,मख्खी व कीट नहीं आते।

2.मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए सोते समय आप हमेशा मच्छरदानी का उपयोग अवश्य करें।

3. पूरी बांह के हल्के रंग के कपड़े पहने, खिड़की और दरवाजे पर मच्छरजाली लगाएं

4. मच्छर जनित बीमारियों से बचने के लिए आप शीशी, टूटे-फूटे बर्तनों, गमले, पुराने टायर आदि में पानी जमा ना होने दें।

5. इस्तेमाल के पानी को हमेशा एयर टाइट ढक्कन से अथवा कपड़े से ढक कर रखे

6. घर में पानी में लगाने वाले पौधे जैसे मनीप्लांट, कमल आदि न लगाए।