H

धार भोजशाला ASI सर्वे का आज दूसरा दिन, मुस्लिम पक्ष के अब्दुल समद भी रहेंगे मौजूद

By: Richa Gupta | Created At: 23 March 2024 09:41 AM


धार स्थित भोजशाला का भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) सर्वे का आज शनिवार को दूसरा दिन है। सर्वे की टीम सुबह सूर्योदय के साथ ही भोजशाला पहुंच गई।

banner
धार स्थित भोजशाला का भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) सर्वे का आज शनिवार को दूसरा दिन है। सर्वे की टीम सुबह सूर्योदय के साथ ही भोजशाला पहुंच गई। इसके साथ ही परिसर के बाहर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। वहीं इस सर्वे को लेकर कमाल मौलानाउद्दीन वेलफेयर सोसाइटी के प्रेसिडेंट अब्दुल समद ने कल हुए सर्वे को खारिज करने की बात कही है। दरअसल धार भोजशाला में शुक्रवार से ASI का सर्वे शुरू हो गया है। हाई कोर्ट की इंदौर बैंच के आदेश के बाद ASI की टीम भोजशाला का सर्वे करने पहुंची थी। पहले दिन करीब 6 घंटे तक भोजशाला का सर्वे किया था। वहीं मुस्लिम पक्ष ने इसे रोकने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थी, जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था।अब इस मामले में 1 अप्रैल को सुनवाई होगी।

हमें इस सर्वे को लेकर कोई नोटिस नहीं दिया गया- अब्दुल समद

मुस्लिम समाज के सदर और समाज की ओर से पक्षकार अब्दुल समद ने कहा कि हमें इस सर्वे को लेकर कोई नोटिस नहीं दिया गया। मेरी तबीयत खराब थी, मैं हॉस्पिटल में एडमिट था। हमें मौका ही नहीं दिया गया और बिना किसी जानकारी ही सर्वे शुरू कर दिया गया। ये गलत है। हाईकोर्ट ने कहा है कि दोनों पक्षों की मौजूदगी में सर्वे हो, तो जब एक पक्ष है ही नहीं तो फिर सर्वे क्यों किया गया? हमारी मांग हैं कि आज नए सिरे से सर्वे शुरू हो। अब्दुल समद ने कहा कि हमने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है कि अचानक नए सर्वे की क्या जरुरत है, जब पुराना सर्वे मौजूद है।

बढ़ाई गई सुरक्षा

वहीं धार भोजशाला के ASI सर्वे की वजह से शहर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। मजदूरों को मेटल डिटेक्टर से जांच के बाद ही भोजशाल में एंट्री दी गई थी, जबकि सभी के मोबाइल भी जब्त कर लिए गए हैं। शहर में सुरक्षा के लिहाज से पुलिस बल तैनात किया गया है। फिलहाल भोजशाला के अंदर खुदाई चल रही है। लेकिन शाम के वक्त जुमे की नमाज के लिए खुदाई का काम रोका जाएगा।

भोजशाला का वैज्ञानिक सर्वे करने के आदेश

बता दें कि 11 मार्च को इंदौर हाईकोर्ट ने संस्था हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस की याचिका पर सुनवाई के बाद भोजशाला का वैज्ञानिक सर्वे करने के आदेश जारी किए थे। अलग-अलग बिंदुओं पर यह सर्वे होना है। इसके लिए ASI के अपर महानिदेशक ने आदेश जारी किया है।

इन बिंदुओं पर हो रहा है सर्वे

भोजशाला के पूरे परिसर का सर्वे और उत्खनन वैज्ञानिक पद्धति से होगा।

उत्खनन और सर्वे GPS GPR तकनीक के साथ कार्बन डेटिंग व अन्य नई तकनीक से करने का आदेश।

भोजशाला परिसर की बाउंड्रीवाल से 50 मीटर की दूरी तक सर्वे किया जाएगा।

ASI के वरिष्ठ अधिकारियों की कमेटी की निगरानी में सर्वे होगा।

उत्खनन और सर्वे की वीडियोग्राफी कराई जाएगी।

परिसर के सभी बंद पड़े कमरों, खुले परिसर और सभी खम्बों का विस्तार से सर्वे होगा।

उत्खनन सर्वे की रिपोर्ट 2 महीने में प्रस्तुत करने के आदेश।