H

जेल में भी दिल्ली के लोगों के बारे में सोच रहे अरविंद केजरीवाल- सौरभ भारद्वाज

By: Richa Gupta | Created At: 26 March 2024 11:56 AM


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कथित शराब घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय की कस्टडी में हैं। केजरीवाल ईडी की हिरासत से ही सरकार चला रहे हैं और वह अब तक दो आदेश जारी कर चुके हैं।

banner
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कथित शराब घोटाले मामले में प्रवर्तन निदेशालय की कस्टडी में हैं। केजरीवाल ईडी की हिरासत से ही सरकार चला रहे हैं और वह अब तक दो आदेश जारी कर चुके हैं। सीएम केजरीवाल के इन आदेशों को लेकर दिल्ली के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, हिरासत में जाने के बाद भी केजरीवाल दिल्ली के बारे में सोच रहे हैं। वह दिल्ली की स्वास्थ्य सेवा के बारे में सोच रहे हैं। केजरीवाल को इस बात की चिंता है कि उनके जेल जाने से दिल्ली की जनता को परेशानी न हो।

मुझे समाधान के लिए कदम उठाने के निर्देश दिए

मुख्यमंत्री को जानकारी मिली है कि लोगों को मोहल्ला क्लीनिक में होने वाले परीक्षणों में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने मुझे इसके समाधान के लिए कदम उठाने का निर्देश दिया है। भारद्वारज ने कहा कि मैं दिल्ली के लोगों को यह सुनिश्चित करना चाहता हूं कि आपके मुख्यमंत्री भले ही जेल में हैं, लेकिन वे सिर्फ आपके बारे में सोच रहे हैं।

गिरफ्तार होने के बाद परिवार के बारे में सोचता है

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हॉस्पिटल में मुफ्त टेस्ट न हो पाने से केजरीवाल परेशान हैं। कई हॉस्पिटल और मोहल्ला क्लिनिक मे दवाई की कमी होने से भी वह परेशान हैं। कोई साधारण आदमी गिरफ्तार होने के बाद परिवार के बारे में सोचता है, लेकिन केजरीवाल हिरासत में जाने के बाद दिल्ली के बारे में सोच रहे हैं।

हम सब लोग उनके सिपाही हैं

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि सीएम ने मुझे निर्देश भेजे हैं। उन्होंने कहा है कि कुछ अस्पतालों में मुफ्त ब्लड टेस्ट, सैंपल उपलब्ध नहीं हैं। लोगों को परेशानी नहीं होनी चाहिए। मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मिडिल क्लास आदमी अस्पताल जाए तो दवाइयां खरीद सकता है लेकिन गरीब के लिए ऐसा नहीं है। वो सरकार पर आश्रित है। कई मरीज जिंदगी भर के लिए दवाइयों पर निर्भर हैं। जैसे डायबटीज, शुगर के मरीज. इन टेस्ट के लिए वो हमारे मोहल्ला क्लिनिक पर निर्भर हैं। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि, मुझे आदेश दिया है कि इसके ऊपर जल्द से जल्द कदम उठाए जाएं। सभी अस्पतालों में दवाइयां, टेस्ट मुफ्त मिलें और उनकी उपलब्धता कम ना हो। उनका निर्देश हमारे लिए भगवान की तरह है। हम सब लोग उनके सिपाही हैं। उनके लिए चौबीस घंटे काम करेंगे।