H

पीएम मोदी को सूर्यकुमार यादव ने बताई उस कैच की पूरी कहानी...

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 06 July 2024 07:01 AM


पीएम मोदी ने कहा कि, वो कैच ऐतिहासिक हो गया है, लेकिन सूर्यकुमार यादव को उस वक्त क्या कहा था।

bannerAds Img
टीम इंडिया की टी-20 वर्ल्ड कप 2024 जीत में वैसे तो सभी खिलाड़ियों का अहम योगदान रहा। मगर साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले गए फाइनल मैच के आखिरी ओवर में जो कुछ भी हुआ, उसने भारतीय फैंस की सांसें रोक दी थी। मैच के अंतिम ओवर में उपकप्तान ​हार्दिक पांड्या ने कमाल की गेंदबाजी की। वहीं हार्दिक की गेंद पर सूर्या ने डेविड मिलर का बाउंड्री पर शानदार कैच पकड़ा। जिसकी बजह से सारा मैच ही पलट गया। वही अब सुर्यकुमार यादव ने उस कैच की पूरी कहानी बयां की।

सूर्या ने ने बताई उस कैच की पूरी कहानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सूर्यकुमार यादव ने बात करते हुए बताया कि, उस वक्त ये नहीं था कि, कैच पकड़ ही लूंगा, बस इतना था कि बॉल बाउंड्री के बाहर ना जाए, ताकि छह रन ना हों, एक दो रन चले जाएं तो कोई बात नहीं। जब बॉल सूर्या के हाथ में आई तो उनके मन में ये भी आया कि, बॉल दूसरे साथी खिलाड़ी को दे दें, लेकिन रोहित शर्मा काफी दूर थे। इसके बाद दूसरी जंप लगाकर खुद ही कैच को पूरा किया।

इस तरह के कैच लेने का काफी अभ्यास किया है

सूर्यकुमार यादव ने आगे बताया कि, इस तरह के कैच लेने का काफी अभ्यास किया है। सूर्या ने कहा कि, उनके मन में यही चल रहा था कि बैटिंग तो करते ही हैं, लेकिन इसके अलावा और किस तरह से टीम में वे सहयोग दे सकते हैं। इसके लिए फील्डिंग की काफी प्रैक्टिस की थी। इसके बाद मोदी आश्चर्च में पड़ गए और पूछते हैं कि क्या इस तरह के कैच की भी प्रैक्टिस हो जाती है। इस पर कोच राहुल द्रविड़ ने बताया​ कि सूर्या ने तो 150 कैच इस तरह के प्रैक्टिस में लिए हैं। सूर्यकुमार यादव बोले कि ये नहीं पता था कि भगवान ऐसे टाइम पर मौका देंगे। लेकिन प्रैक्टिस की हुई थी, इसलिए ज्यादा दिक्कत नहीं हुई।

सूर्या ने पकड़ा ऐतिहासिक कैच - पीएम मोदी

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उस कैच का भी जिक्र किया, जो सूर्यकुमार यादव ने मैच के आखिरी ओवर में पकड़ा था। पीएम मोदी ने कहा कि, वो कैच को ऐतिहासिक हो गया है, लेकिन सूर्या को उस वक्त क्या कहा था। इसके बाद पीएम मोदी सहित पूरी टीम इंडिया हंसती हुई नजर आई। इसके बाद सूर्या ने खुद ही कहा कि, कैच पकड़ा गया है चिंता की कोई बात नहीं है। वो कैच एक तरह से गेम चैंजिंग कैच साबित हुआ। इसके बाद जो टीम इंडिया टेंशन में थी, उसने जीत का जश्न मनाना शुरू कर दिया।