H

मुख्तार अंसारी की मौत की जांच करने बांदा जेल पहुंची तीन सदस्यीय टीम

By: Sanjay Purohit | Created At: 30 March 2024 02:12 PM


मुख्तार अंसारी की मौत के बाद कई नेताओं ने सवाल उठाए थे। सपा और बसपा समेत कांग्रेस के नेताओं ने उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी।

banner
उत्तरप्रदेश। गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी को मोहम्मदाबाद में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया है। बांदा जेल में 28 मार्च को मुख्तार अंसारी की तबियत बिगड़ने के बाद उसकी मौत हो गई थी। डॉक्टर्स ने मुख्तार अंसारी की मौत का कारण हार्ट अटैक बताया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी यही बात सामने आई है। शनिवार को मुख्तार अंसारी की मौत की जांच करने अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गरिमा सिंह के नेतृत्व वाली टीम सस्यीय टीम बांदा जेल पहुंची है।

मुख्तार अंसारी की मौत के बाद कई नेताओं ने सवाल उठाए थे। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी समेत कांग्रेस के नेताओं ने मुख्तार अंसारी की मौत के बाद उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी। इसके चलते 29 मार्च को अंसारी की मौत की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए गए थे। अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (एमपी-एमएलए कोर्ट बांदा) गरिमा सिंह के नेतृत्व वाली तीन सदस्यीय टीम कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार अंसारी की मौत की जांच करने के लिए बांदा जेल पहुंची। बता दें कि, मुख्तार अंसारी ने कुछ समय पहले जेल में स्लो पॉइजन दिए जाने की बात पत्र के माध्यम से कोर्ट के सामने रखी थी।

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा था कि, 'मुख्तारअंसारी की जेल में हुई मौत को लेकर उनके परिवार द्वारा जो लगातार आशंकायें व गंभीर आरोप लगाए गए हैं उनकी उच्च-स्तरीय जाँच जरूरी, ताकि उनकी मौत के सही तथ्य सामने आ सकें।'