H

कॉलेज में प्रोफेसरों और स्टॉफ की लगेगी ऑनलाइन हाजिरी, सेल्फी भी जरूरी

By: Sanjay Purohit | Created At: 10 July 2024 08:24 AM


कुछ कॉलेजों में बायोमेट्रिक अटेंडेंस की व्यवस्था है, लेकिन निगरानी के लिए कोई सेंट्रलाइज्ड व्यवस्था नहीं है। इस कारण विभाग को कॉलेजों की पूरी जानकारी नहीं मिल पाती।

bannerAds Img
मध्यप्रदेश के अनुदान प्राप्त महाविद्यालयों में भी प्राध्यापकों व अन्य स्टाफ के लिए ई-अटेंडेंस की व्यवस्था अनिवार्य कर दी गई है। अतिथि शिक्षकों को भी सार्थक ऐप के माध्यम से अपनी हाजिरी लगानी होगी। प्राध्यापक कक्षा में सेल्फी के साथ आने और जाने की सूचना दर्ज करेंगे। अतिरिक्त संचालक इसकी रिपोर्ट तैयार करेंगे। हाजिरी के आधार पर वेतन तैयार किया जाएगा।

अभी रजिस्टर में हाजिरी

अनुदान प्राप्त कॉलेजों के शिक्षकों की हाजिरी अभी रजिस्टर में हो रही है। कुछ कॉलेजों में बायोमेट्रिक अटेंडेंस की व्यवस्था है, लेकिन निगरानी के लिए कोई सेंट्रलाइज्ड व्यवस्था नहीं है। इस कारण विभाग को कॉलेजों की पूरी जानकारी नहीं मिल पाती। विभाग का मानना है कि इससे प्राध्यापक और कर्मचारी समय पर आएंगे। शिक्षण कार्य सुधारेगा। ड्यूटी से गायब रहने वालों की जानकारी मिलेगी। संबंधित कॉलेज के प्राचार्य का दायित्व होगा कि वे नई व्यवस्था को जल्द लागू करें।