H

MP News: 1 जनवरी से 18 मार्च के बीच 8 हजार से ज्यादा नेता-कार्यकर्ता बीजेपी में हुए शामिल, कांग्रेस के लिए सामने ये बड़ी चुनौती

By: payal trivedi | Created At: 21 March 2024 05:11 PM


देश में लोकसभा चुनाव की तारीखों ऐलान हो चुका है और राजनीतिक दल उसी की तैयारी में भी जुट गए हैं। लेकिन मध्य प्रदेश में देश की सबसे पुरानी पार्टी यानि कांग्रेस एक अलग ही चुनौती से जूझ रहे हैं।

banner
Bhopal: देश में लोकसभा चुनाव की तारीखों ऐलान हो चुका है और राजनीतिक दल उसी की तैयारी में भी जुट गए हैं। लेकिन मध्य प्रदेश में देश की सबसे पुरानी पार्टी यानि कांग्रेस एक अलग ही चुनौती से जूझ रहे हैं। एमपी में एक के बाद एक नेता कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में जा रहे हैं। यह संख्या हजारों तक जा पहुंची है जिसके बाद एमपी कांग्रेस में हाहाकार मचा हुआ है। दूसरी तरफ कांग्रेस ने अभी तक सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तक तय नहीं किये हैं, जबकि बीजेपी उम्मीदवारों ने नामांकन भी शुरू कर दिया।

डॉ. मिश्रा को बनाया गया है न्यू जोइनिंग टोली का संयोजक

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले, मध्य प्रदेश में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने वाले नेताओं के स्वागत की तस्वीरें इन दिनों बेहद आम हो गई है। पिछले 1-2 महीने से शायद ही ऐसा कोई दिन जाता होगा जब कांग्रेस छोड़कर कोई नेता बीजेपी में ना जा रहा हो। कांग्रेस के नाराज नेताओं को बीजेपी में लाने की जिम्मेदारी पार्टी आलकमान ने पूर्व गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को सौंपी है। हाल ही में दतिया से विधानसभा चुनाव हार चुके नरोत्तम मिश्रा को बीजेपी न्यू जोइनिंग टोली का संयोजक बनाया गया है और वो लगातार अपने काम को अंजाम देते हुए हजारों कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को बीजेपी में शामिल करवा चुके हैं।

नेता से लेकर कार्यकर्ता तक छोड़ रहे हैं पार्टी

कांग्रेस के लिए चिंता की बात इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि कांग्रेस से बीजेपी की तरफ जाने वालों की इस दौड़ में पार्टी के बड़े नेता तो टूट ही रहे हैं, उनके साथ पार्टी संगठन की रीढ़ कहे जाने वाले ब्लॉक स्तर से लेकर जिला और विधानसभा स्तर तक के कार्यकर्ता भी पार्टी छोड़ रहे हैं। पिछले दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी अपने दर्जन भर समर्थकों के साथ बीजेपी में शामिल हुए तो वहीं सोमवार 19 मार्च को ही कमलनाथ के बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता सैयद जाफर ने भी बीजेपी की सदस्यता ले ली।

करीब 8 हजार नेताओं ने ली बीजेपी की सदस्यता

खुद सीएम मोहन यादव अधिकतर नेताओं की ज्वॉइनिंग के समय खुद मौजूद रहते हैं। मुख्यमंत्री मोहन यादव बता रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी की वैश्विक नेता वाली दमदार छवि और उनके विजन से प्रभावित होकर एमपी में बीजेपी का परिवार लगातार बढ़ता जा रहा है। नरोत्तम मिश्रा से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश भाजपा कार्यालय में जनवरी 2024 से लेकर मार्च 2024 तक कांग्रेस के करीब 8 हजार नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की सदस्यता ली है। इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व सांसद, पूर्व विधायकों समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हैं। प्रदेश कार्यालय में शामिल होने वाले प्रमुख नेतागणों की संख्या-8500 से अधिक है। Bhopal: देश में लोकसभा चुनाव की तारीखों ऐलान हो चुका है और राजनीतिक दल उसी की तैयारी में भी जुट गए हैं। लेकिन मध्य प्रदेश में देश की सबसे पुरानी पार्टी यानि कांग्रेस एक अलग ही चुनौती से जूझ रहे हैं। एमपी में एक के बाद एक नेता कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में जा रहे हैं। यह संख्या हजारों तक जा पहुंची है जिसके बाद एमपी कांग्रेस में हाहाकार मचा हुआ है। दूसरी तरफ कांग्रेस ने अभी तक सीटों पर उम्मीदवारों के नाम तक तय नहीं किये हैं, जबकि बीजेपी उम्मीदवारों ने नामांकन भी शुरू कर दिया।

डॉ. मिश्रा को बनाया गया है न्यू जोइनिंग टोली का संयोजक

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले, मध्य प्रदेश में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने वाले नेताओं के स्वागत की तस्वीरें इन दिनों बेहद आम हो गई है। पिछले 1-2 महीने से शायद ही ऐसा कोई दिन जाता होगा जब कांग्रेस छोड़कर कोई नेता बीजेपी में ना जा रहा हो। कांग्रेस के नाराज नेताओं को बीजेपी में लाने की जिम्मेदारी पार्टी आलकमान ने पूर्व गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को सौंपी है। हाल ही में दतिया से विधानसभा चुनाव हार चुके नरोत्तम मिश्रा को बीजेपी न्यू जोइनिंग टोली का संयोजक बनाया गया है और वो लगातार अपने काम को अंजाम देते हुए हजारों कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को बीजेपी में शामिल करवा चुके हैं।

नेता से लेकर कार्यकर्ता तक छोड़ रहे हैं पार्टी

कांग्रेस के लिए चिंता की बात इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि कांग्रेस से बीजेपी की तरफ जाने वालों की इस दौड़ में पार्टी के बड़े नेता तो टूट ही रहे हैं, उनके साथ पार्टी संगठन की रीढ़ कहे जाने वाले ब्लॉक स्तर से लेकर जिला और विधानसभा स्तर तक के कार्यकर्ता भी पार्टी छोड़ रहे हैं। पिछले दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी अपने दर्जन भर समर्थकों के साथ बीजेपी में शामिल हुए तो वहीं सोमवार 19 मार्च को ही कमलनाथ के बेहद करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता सैयद जाफर ने भी बीजेपी की सदस्यता ले ली।

करीब 8 हजार नेताओं ने ली बीजेपी की सदस्यता

खुद सीएम मोहन यादव अधिकतर नेताओं की ज्वॉइनिंग के समय खुद मौजूद रहते हैं। मुख्यमंत्री मोहन यादव बता रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी की वैश्विक नेता वाली दमदार छवि और उनके विजन से प्रभावित होकर एमपी में बीजेपी का परिवार लगातार बढ़ता जा रहा है। नरोत्तम मिश्रा से मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश भाजपा कार्यालय में जनवरी 2024 से लेकर मार्च 2024 तक कांग्रेस के करीब 8 हजार नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बीजेपी की सदस्यता ली है। इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व सांसद, पूर्व विधायकों समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हैं। प्रदेश कार्यालय में शामिल होने वाले प्रमुख नेतागणों की संख्या-8500 से अधिक है।

1 जनवरी 2024 से 18 मार्च तक भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने वालों के नाम

1- सुरेश पचौरी- पूर्व केन्द्रीय मंत्री

2- जगतप्रकाश अन्नू- जबलपुर महापौर

3- शंशाक शेखर सिंह- पूर्व महाविधिवक्ता व कांग्रेस मीडिया सेल के प्रमुख

4- राकेश कटारे- विदिशा कांग्रेस जिलाध्यक्ष

5- रूदेश परस्ते- डिंडौरी जिला पंचायत अध्यक्ष

6- सुखराज सिंह- पूर्व एडीजी, पूर्व सूचना आयुक्त

7- गजेन्द्र सिंह राजूखेडी- पूर्व सांसद

8- संजय शुक्ला- पूर्व विधायक

9- विशाल पटेल- पूर्व विधायक

10- अर्जुन पलिया- पूर्व विधायक

11- दिनेश अहिरवार- पूर्व विधायक टीकमगढ़

12- हर्षित गुरू- युवक कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष, कांग्रेस प्रदेश महासचिव

13- श्रीमती रजनी बालपाण्डे- पार्ढूना कांग्रेस महिला जिला अध्यक्ष

14- श्रीमती अमिता बागरी- गुन्नौर से समाजवादी पार्टी की विधानसभा प्रत्याशी

15 श्रीमती ममता सिंह सेंगर- महिला कांग्रेस प्रदेश सचिव

16- वीरेन्द्र सिंह राठौर- कांग्रेस के बडवानी जिलाध्यक्ष, पूर्व विधायक

17- ओपी द्विवेदी- सेवानिवृत्त एसडीओ

18- कमलापत आर्य- पूर्व विधायक

19- श्रीमती मंजू कटारे- दमोह जिला पंचायत उपाध्यक्ष

20- नारायण सिंह मीणा- सेवानिवृत्त अपर जिला एवं सत्र न्यायधीश

21- योगेन्द्र सिंह जौदान बंटी बना- शाजापुर कांग्रेस के पूर्व जिलाध्यक्ष

22- श्रीमती सारिका उपाध्याय- एनसीपी महिला मोर्चा की प्रदेश उपाध्यक्ष

23- अजय सिंह यादव- पिछड़ा वर्ग वित एवं विकास निगम के पूर्व उपाध्यक्ष

24- श्रीमती बाईसाहब यादव- पूर्व विधायक की पत्नी

25- सुश्री एकता ठाकुर- सीहोरा विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी

26- अजय सिंह यादव- कांग्रेस मीडिया विभाग के पूर्व उपाध्यक्ष व प्रवक्ता

27- डॉ. वनिता श्रीवास्तव- वरिष्ठ पत्रकार व आईआईटी कानपुर की एलुमनाई

28- वीरेन्द्र बिहारी शुक्ला- पूर्व जिलाध्यक्ष डिंडौरी कांग्रेस

29- श्रीमती अर्चना सिंह - सिंगरौली जिला पंचायत उपाध्यक्ष

30- हटेसिंह पटेल- आंजना समाज के प्रदेश अध्यक्ष, युवक कांग्रेस उज्जैन के पूर्व अध्यक्ष

31- सत्यपाल सिंह पटेल- गोटेगांव से कांग्रेस विधानसभा प्रत्याशी

32- अलग-अलग जिलों के 1 दर्जन से अधिक जनपद अध्यक्ष

33 साहू समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष

34- कमलनाथ के करीबी सय्यद जाफर