H

होलिका दहन है आज, जानें भद्रा काल का समय, मुहूर्त और पूजन विधि

By: Ramakant Shukla | Created At: 24 March 2024 09:12 AM


फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है। इस दिन लोग होलिका की पूजा और दहन के बाद ही भोजन आदि किया जाता है। धार्मिक दृष्टि से होली का त्योहार काफी महत्व रखता है। इस साल होलिका दहन 24 मार्च यानी आज होगा। वहीं, रंगवाली होली 25 मार्च यानी कल खेली जाएगी।

banner
फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को होलिका दहन किया जाता है। इस दिन लोग होलिका की पूजा और दहन के बाद ही भोजन आदि किया जाता है। धार्मिक दृष्टि से होली का त्योहार काफी महत्व रखता है। इस साल होलिका दहन 24 मार्च यानी आज होगा। वहीं, रंगवाली होली 25 मार्च यानी कल खेली जाएगी।

होलिका दहन शुभ मुहूर्त

इस बार होलिका दहन 24 मार्च यानी आज होने जा रहा है। 24 मार्च यानी आज भद्रा सुबह 9 बजकर 24 मिनट से शुरू होगी और आज रात 10 बजकर 27 मिनट तक रहेगी। तो आज रात 10 बजकर 27 मिनट के बाद ही होलिका दहन किया जा सकता है।

कैसे किया जाता है होलिका दहन

होलिका दहन या छोटी होली के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन लोग सूर्यास्त के बाद लोग होलिका जलाते हैं और मंत्रों का जाप करते हैं. पारंपरिक लोकगीत गाते हैं. अग्नि जलाने से पहले वे रोली, अखंडित चावल के दाने या अक्षत, फूल, कच्चा सूत का धागा, हल्दी के टुकड़े, अखंडित मूंग दाल, बताशा, नारियल और गुलाल चढ़ाते हैं जहां लकड़ियां रखी जाती हैं. वे मंत्र का जाप करते हैं और होलिका जलाते हैं. लोग 5 बार होलिका की परिक्रमा करते हैं और अपनी भलाई और खुशी के लिए प्रार्थना करते हैं।

ऐसे खेली जाती है होली

होली का त्योहार दो दिनों तक चलता है। होलिका दहन से शुरू होकर बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाया जाता है। अगले दिन, लोग हल्दी, नीम, कुमकुम आदि जैसे प्राकृतिक स्रोतों से बने रंगों (रंग, गुलाल) से खेलते हैं। होली के दिन लोग बड़ों से आशीर्वाद भी लेते हैं और खुशी के साथ एक-दूसरे को शुभकामनाएं भी देते हैं और एकदूसरे को रंग लगाते हैं।