H

UPA सरकार पर जमकर बरसीं निर्मला सीतारमण, कहा - सुपर PM थीं सोनिया गांधी

By: Durgesh Vishwakarma | Created At: 10 February 2024 11:19 AM


निर्मला सीतारमण ने आरोप लगाया कि, शासन पर दबाव था क्योंकि सोनिया गांधी को एनएसी अध्यक्ष के रूप में अतिरिक्त-संवैधानिक अधिकार मिला था, जिसे पीएम के लिए एक सलाहकार बोर्ड के रूप में स्थापित किया गया था।

banner
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सदन में कांग्रेस और UPA सरकार के खिलाफ चौतरफा हमला बोला। केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि, UPA सरकार का शासन दिशाहीन और नेतृत्वहीन था। सीतारमण ने कहा कि, उस वक्त सोनिया गांधी ने ‘सुपर प्रधानमंत्री’ के रूप में काम किया।

निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी पर बोला हमला

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2013 की एक घटना को लेकर राहुल गांधी पर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने राहुल गांधी द्वारा मनमोहन सिंह सरकार में फाड़े गए एक प्रस्तावित अध्यादेश का जिक्र किया कि कैसे राहुल गांधी ने उस अध्यादेश को फाड़ दिया था। केंद्रीय वित्त मंत्री ने सीतारमण ने आगे कहा कि, क्या यह अपने ही पीएम का अपमान नहीं है? वह अहंकारी थे, उन्हें अपने ही पीएम की परवाह नहीं थी। वे अब संस्थानों के बारे में चिल्ला रहे हैं और हमें लेक्‍चर दे रहे हैं।

710 फाइलें एनएसी को क्यों भेजी गईं?

निर्मला सीतारमण ने आरोप लगाया कि, शासन पर दबाव था क्योंकि सोनिया गांधी को एनएसी अध्यक्ष के रूप में अतिरिक्त-संवैधानिक अधिकार मिला था, जिसे पीएम के लिए एक सलाहकार बोर्ड के रूप में स्थापित किया गया था। केंद्रीय वित्त मंत्री ने दावा किया कि, सरकार द्वारा 710 फाइलें अनुमति के लिए एनएसी के पास भेजी गई थीं। उन्होंने कहा कि, यह यह गैर जिम्मेदार, गैर जवाबदेह शक्ति थी, 710 फाइलें एनएसी को क्यों भेजी गईं?