Connect with us

Business

खुदरा महंगाई की दर में आई गिरावट, सितंबर में पहुंची 4.45%

Published

on

  • अगस्त में महंगाई की दर 5.3 फीसदी थी
  • सितंबर में घटकर 4.45 फीसदी पहुंची
  • आरबीआई ने पॉलिसी रेट में नहीं किया बदलाव

 

फेस्टिव सीजन आने के साथ ही मोदी सरकार के लिए बड़ी राहत की खबर आई है। अगर महंगाई की बात की जाए तो अगस्त महीने के मुकाबले सितंबर महीने में खुदरा महंगाई की दर में भारी गिरावट देखने को मिली है। अगस्त में महंगाई की दर 5.3 फीसदी थी, जो कि सितंबर में गिरकर 4.45 फीसदी पर पहुंच गई है। अप्रैल-2021 के बाद सबसे कम खुदरा महंगाई दर सितंबर में आई है।

सरकार ने मंगलवार को जो आंकडे जारी किए हैं, उनके अनुसार खाने-पीने की चीजें सस्ती होने से खुदरा महंगाई की दर में गिरावट आ गई है। अगस्त में खाद्य महंगाई की दर 3.11 फीसदी था, लेकिन सितंबर में घटकर 0.68 फीसदी रह गई। नेशनल स्टैटिकल ऑफिस की तरफ से यह आंकड़े 12 अक्टूबर को जारी किए गए हैं।

 

रेपो रेट 4% और रिवर्स रेट 3.35% पर स्थिर है

इस बार देखा जाए तो महंगाई की दर आरबीआई के टारगेट के दायरे में ही है। भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी ताजा मौद्रिक नीति समीक्षा में मौजूदा कारोबारी साल के लिए अपना मुद्रास्‍फीति अनुमान 5.3 फीसदी कर दिया है, जो कि पहले 5.7 फीसदी था। आरबीआई का फोकस सिर्फ महंगाई की दर को कम करना था, इसलिए आरबीआई ने पॉलिसी रेट में कोई बदलाव नहीं किया। रेपो रेट 4% और रिवर्स रेट 3.35% पर स्थिर है।

Advertisement

इसके अलावा IIP (Index of Industrial Production) अगस्‍त में 11.9 फीसदी पर पहुंच गया। जो कि जुलाई में 11.5 फीसदी था। इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन के लिए भी थोड़ी अच्छी खबर सामने आई है। अगस्त 2020 में IIP में 7.1 फीसदी की कमी की गई है। अगस्‍त में मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर का उत्‍पादन बढ़कर 9.7 फीसदी रहा। खनन उत्‍पादन 23.6 फीसदी और ऊर्जा उत्‍पादन में 16 फीसदी की बढ़त की गई।

Share Post:
Advertisement

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel. Website Design & Developed By Shreeji Infotek