Connect with us

Business

Spicejet के संचालन पर 30 दिनों का प्रतिबंध

Published

on

Share Post:
  • स्पाइसजेट के लाइसेंस को किया गया निलंबित
  • यह लाइसेंस अस्थायी रूप से किया गया निलंबित
  • खतरनाक सामान को लेकर लगाया गया प्रतिबंध

 

Spicejet पर फिलहाल के लिए कुछ पाबंदी लगा दी गई है विमान के लिए नियम बनाने वाली डीजीसीए ने नियमों का उल्लंघन करने के लिए ‘खतरनाक सामान’ के परिवहन को लेकर स्पाइसजेट के लाइसेंस को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया है। मिली जानकारी के अनुसार यह निलंबन 30 दिनों के लिए लागू किया गया है और इन 30 दिनों की अवधि के दौरान स्पाइसजेट को अपनी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में लिथियम-आयन बैटरी सहित खतरनाक सामान ले जाने की अनुमति नहीं मिलेगी। स्पाइसजेट के प्रवक्ता ने सीधे तौर पर निलंबन के बारे में कुछ नहीं कहा है।

एयरलाइन का कहना है कि एक मामूली सी समस्या थी, जिसे बड़ा बनाकर पेश किया गया है। एयरलाइन ने कहा कि सामान भेजने वाले के एक पैकेज को ‘गैर-खतरनाक सामान’ घोषित किया गया था। उसके बाद भी उस सामान को काली सूची में डाला गया है। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) के नियमों के अनुसार, खतरनाक सामान ऐसे पदार्थ हैं जो स्वास्थ्य, सुरक्षा, संपत्ति या पर्यावरण के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

मिली रिपोर्ट के मुताबिक,डीजीसीए ने ऐसे सामान के परिवहन के लिए कुछ मानदंडों को निर्धारित किया है इनका उल्लंघन करने पर खतरनाक सामानों के लिए स्पाइसजेट के लाइसेंस को 30 दिनों के लिए निलंबित कर दिया है।

Advertisement

प्रतिबंध को बढ़ाकर 31 अक्टूबर तक करने का लिया फैसला

इससे पहले डीजीसीए ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों पर लगाए गए प्रतिबंध को बढ़ाकर 31 अक्टूबर तक करने का फैसला लिया है। डीजीसीए ने कहा, यह प्रतिबंध अंतरराष्ट्रीय ऑल-कार्गो संचालन और विशेष रूप से नियामक द्वारा अनुमोदित की गई उड़ानों पर लागू नहीं किया जाएगा।

विमानन नियामक (aviation regulator) ने कहा कि अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को कुछ चुने गए आधार पर ही छूट दी जा सकती है। केंद्र सरकार ने पिछले साल 23 मार्च को कोविड-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, बाद में कुछ देशों के साथ एयर बबल व्यवस्था के तहत उड़ानों के प्रतिबंधों में कुछ नियमों के साथ छूट दे दी गई थी। भारत ने लगभग 25 देशों के साथ एयर बबल समझौता किया है। देश पिछले एक साल से कई देशों के लिए वंदे भारत की उड़ानें संचालित कर रहा है।

Advertisement

 

 

 

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.