Connect with us

Madhya Pradesh

एक ईसाई मृतक के शव को दफनाने के लिए परिजन को करना पड़ा घंटो इंतजार,स्थानीय प्रशासन ने शव के दफन के लिए करवाई जमीन की व्यवस्था

Published

on

Share Post:

 

  • 2 गज जमीन के लिए लंबा इंतजार
  • 15 घंटे बाद शव दफनाने मिली जमीन
  • कब्रिस्तान नहीं होने के कारण बनी स्थिति

 

दतिया। जिले के इंदरगढ़ निवासी एक ईसाई मृतक के बाद उसके शव को दफनाने के लिए घंटो इंतजार करना पड़ा। शव को दफन करने के 2 गज जमीन की जरूरत थी। जिसके लिए मृतक के परिजन को करीब 15 घंटे तक इंतजार करना पड़ा। मृतक के परिजनों की गुहार के बाद स्थानीय प्रशासन ने जमीन की व्यवस्था करवाई। जिसके बाद उसे लांच स्थित सिंध नदी के किनारे दफनाया जा सका। इंदरगढ़ कस्बे में निवासरत ईसाई परिवारों के लिए कोई कब्रिस्तान नही है। इसलिए परिजनों ने शव को मुस्लिम कब्रिस्तान में दफनाने का प्रयास किया। लेकिन मुस्लिम समाज ने अपने कब्रिस्तान में ईसाई युवक को दफनाने की स्वीकृति नहीं दी। थक हारकर स्वजनों ने इस मामले में स्थानीय प्रशासन से गुहार लगाई। जिसके बाद स्थानीय प्रशासन ने युवक के शव को दफनाने की व्यवस्था करवाई।

ईसाई शव के लिए कब्रिस्तान में नही मिली जगह

Advertisement

एक परिवार को अंतिम संस्कार के लिए जगह नही होने के कारण मृतक की देह को करीब 15 घण्टे तक रखना पड़ा। काफी लंबे समय के बाद प्रशासन के हस्तक्षेप से अंतिम संस्कार हो सका। मामला दतिया के अनुभाग इंदरगढ़ का है। बताया गया है। कि इंदरगढ़ नगर की संतोषी माता मंदिर के पास युवक जोन पुत्र रसीद ईसाई की मृत्यु सोमवार रात्रि 10 बजे हुई थी। इसके परिजन शव को दफनाने के लिए 15 घंटे तक इंतजार करते रहे। क्योंकि कस्वा इंदरगढ़ में ईसाई समाज के शव को दफनाने के लिए कब्रिस्तान नहीं है। जब परिजन मुस्लिम कब्रिस्तान में दफनाने गए तो मुस्लिम समाज ने भी अपनी कब्रिस्तान में दफनाने से मना कर दिया। परिजनों ने प्रशासन से दफनाने के लिए गुहार लगाई थी।

  • सिंध नदी घाट पर 15 घंटे बाद शव को दफनाया

    सेवड़ा एसडीएम अनुराग निगवाल इंदरगढ़ नगर परिषद में दोनों पक्षों को बुलाकर समझाने का प्रयास किया गया। लेकिन इंदरगढ़ मुस्लिम पक्ष ने अपनी कब्रिस्तान में दफनाने के लिए साफ मना कर दिया। मृतक के परिजनों को समझाने के बाद लाच सिंध नदी पर दफनाने पर परिजन राजी हुए। सेवड़ा एसडीएम ने नगर परिषद के शव वाहन से शव लाच सिंधु नदी पर पहुंचाने के निर्देश दिए। पटवारी रामखेलावन जाटव को शव को दफनाने के निर्देश दिए। तब कहीं जाकर इंदरगढ़ नगर से 5 किलोमीटर दूर सिंध नदी घाट पर 15 घंटे बाद शव को दफनाया गया। मृतक परिजन विनोद ईसाई, राजू ईसाई और शम्मी ईसाई ने प्रशासन से मांग की है। कि भविष्य में ऐसा न हो इस समस्या के लिए कब्रिस्तान के लिए जमीन जल्द से जल्द उपलब्ध कराई जाए ।

Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.