Connect with us

Business

5 साल में एयरपोर्ट की संख्‍या 220 तक ले जाने का लक्ष्य, जानें एविएशन मिनिस्टर का मेगा प्लान

Published

on

Share Post:
  • एयरलाइंस और हवाई मार्गों की संख्या में हुई बढ़ोत्तरी
  • आजादी के बाद 2014 तक 76 हवाईअड्डे थे
  • नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में संख्या बढ़कर पहुंची 136

 

 

नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि क्षेत्रीय संपर्क योजना ‘उड़े देश का आम नागरिक’ (उड़ान) की वजह से हाल के वर्षों में एयरलाइंस और हवाई मार्गों की संख्या में उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है। ओडिशा के झारसुगुड़ा में आयोजित उड़ान उत्सव समारोह को संबोधित करते हुए सिंधिया ने सोमवार को कहा कि आजादी के बाद से 2014 तक देश में सिर्फ 72 हवाईअड्डे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आज इनकी संख्या बढ़कर 136 पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि हमने अगले 5 साल में एयरपोर्ट की संख्‍या 220 तक ले जाने का लक्ष्य बनाया है। उड़ान योजना से एयरलाइंस और हवाई मार्गों की संख्या में भी उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने उड़ान योजना के तहत शिलॉन्ग से दीमापुर के बीच नई हवाई सेवा को भी झंडी दिखाकर रवाना किया।

उड़ानो पर प्रतिबंध 30 नवंबर तक बढ़ाया

Advertisement

बीते हफ्ते एविएशन मिनिस्‍ट्री की ओर से कहा गया था कि अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों को सामान्‍य करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। हालांकि, नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने कोरोना वायरस महामारी के कारण निर्धारित अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध 30 नवंबर तक बढ़ा दिया है। यह प्रतिबंध पहले 31 अक्टूबर तक था, जिसे आगे बढ़ा दिया गया है। हालांकि, सक्षम प्राधिकारी कोरोना महामारी के मामलों को देखते हुए चयनित मार्गों पर निर्धारित अंतरराष्ट्रीय एयरलाइंस को उड़ान भरने की अनुमति दे सकते हैं।

तकनीकी उपकरण को चालू करने वाला पहला हवाईअड्डा

दूसरी तरफ कर्नाटक के बेंगलुरु में स्थित कैम्पेगौड़ा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा अत्याधुनिक अग्निशमन प्रणाली ‘रोसेनबाउर टेक्निकल सिम्युलेटर’ को चालू करने वाला दक्षिण एशिया का पहला हवाईअड्डा बन गया है। बेंगलुरु इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ने बताया कि बेंगलुरु हवाईअड्डा इस तरह के उच्च तकनीक वाले उपकरणों को स्थापित करने वाला दक्षिण एशिया का पहला हवाईअड्डा है। उसने कहा, ‘‘रोसेनबाउर टैक्टिकल सिमुलेटर प्रणाली बेंगलुरु हवाई अड्डे समेत अग्निशमन दल और रक्षा बल को आपात स्थिति के लिए तैयार करने के लिए कई विकल्प प्रदान करता है। इस प्रणाली के जरिये अग्निशमन कर्मचारी को एक वास्तविक माहौल में प्रशिक्षण दिया जा सकता है।

Advertisement
Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.