Connect with us

Featured

प्लासी के युध्द से क्या हैं बंगाल की सबसे पहली दुर्गा पूजा का कनेक्शन, आइए जानते हैं

Published

on

  • बंगाल में दुर्गा पूजा का आयोजन 1757 के प्लासी युध्द के बाद से मानी जाती है
  • प्रमाण के लिए एक अंग्रेजों की एक पेंटिंग मिली है जिसमे दुर्गा पूजा दिखाई गई है
  • सैकड़ों सालों से दुर्गा पूजा होती आ रही हैं

 

भारत देश के अलावा विश्व के बहुत से देशों में मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की जाती है। अगर सबसे फेमस दुर्गा पूजा की बात की जाए तो अप सबके दिमांग में बंगाल की दुर्गा पूजा सबसे पहले आती होगी। बंगाल की पूजा जीतनी भव्य होती है, पंडाल भी उतने ही निरल सुन्दर होते है। पहली बार बंगाल में दुर्गा पूजा 1757 में प्लासी के युध्द के समय हुई। हर वर्ष नवरात्र के अवसर पर भव्य दुर्गा पूजा की परंपरा शुरू से ही रही है। इन नौ दिन मां की विशेष उपासना की जाती हैं। देश के सभी जगहों पर मां के नौ रूपों की विशेष पूजा-अर्चना की जाती है। बंगाल में सभी छोटे बड़े शहरों के साथ-साथ गांवकस्वों में मां की आराधना की जाती है। बड़े -बड़े पंडाल आकर्षण का केंद्र बने होते हैं। सैकड़ों सालों से दुर्गा पूजा होती आ रही हैं। मान्यता हैं की बंगाल से ही देश के विभिन्न हिस्सों में दुर्गा पूजा का आयोजित  करने का चलन शुरू हुआ ।

दुर्गा पूजा करके दिया धन्यवाद

File:Kolkata Dance.jpg - Wikimedia Commons

बंगाल में दुर्गा पूजा का आयोजन 1757 के प्लासी युध्द के बाद से मानी जाती है..मान्यता है की प्लासी के युद्ध में जब अंग्रेजों ने बंगाल के शासक सिराजुद्दौला को हराया तो इस जीत से अंग्रेजों ने मां दुर्गा को धन्यवाद देने के लिए बंगाल में पहली बार दुर्गा पूजा शुरू की गई।

अंग्रेज अफसर को खुश करने के लिए दुर्गा पूजा हुई

262 साल पहले बंगाल में ऐसे हुई थी दुर्गा पूजा मनाने की शुरुआत | first durga  puja celebration in west bengal and its link with 1757 battle of plassey –  News18 Hindi

बंगाल के कोलकाता को शानदार तरीके से सजाया गया। शोभा बाजार में दुर्गा पूजा आ आयोजन किया गया। कृष्णनगर के महान मूर्तिकारों और चित्रकारों को बुलाया गया, श्रीलंका और वर्मा से सुन्दर नृत्यांगनाएबुलवाई गई। अंग्रेज अफसर रॉबर्ट क्लाइव एक विशेष हाथी पर बैठकर समारोह का आंनद लेने आया। इस आयोजन को देखने से दूर दूर से लोग आये। प्रमाण के लिए एक अंग्रेजों की एक पेंटिंग मिली है ।

Advertisement

1757 के बाद बंगाल में भव्य दुर्गा पूजा शुरू हुई

262 साल पहले बंगाल में ऐसे हुई थी दुर्गा पूजा मनाने की शुरुआत | first durga  puja celebration in west bengal and its link with 1757 battle of plassey –  News18 Hindi

बंगाल में 1757 के बाद दुर्गा पूजा का आयोजन बंगाल के बड़े अमीर जमीदार आशचर्यचकित रह गए। जब बंगाल में जमीदारी प्रथा लागू हुई तो इलाकों में अमीर जमीदार अपना रौब रसूख दिखने के लिए हर वर्ष इस दुर्गा पूजा का भव्य आयोजन करने लगे। इस दुर्गा पूजा को देखने दूर -दूर से लोग आने लगे और फिर एसे ही धीरे-धीरे दुर्गा पूजा लोकप्रिय और सभी जगहों देश के हिस्सों में भी होने लगी ।

 

 

Advertisement
Share Post:
Advertisement

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel. Website Design & Developed By Shreeji Infotek