Connect with us

National

युवराज सिंह को अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति पर टीका-टिप्पड़ी करना पड़ा भारी, जानें पूरा मामला

Published

on

Share Post:
  • युवराज ने की थी जातिसूचक टीका-टिप्पड़ी
  • हरियाणा के अधिवक्ता ने की थी शिकायत दर्ज
  • कोर्ट ने दी थी युवराज को जमानत
  • अधिवक्ता इस जमानत को देंगे चुनौती

 

टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी युवराज सिंह पर आपत्तिजनक टीका- टिप्पड़ी करने का आरोप लगाया गया था, यह मामला पिछले साल का है। दरअसल युवराज पर हरियाणा के एक अधिवक्ता रजत कलसन ने जातिसूचक टीका-टिप्पड़ी के मामले को लेकर हिसार के हांसी थाना शहर में शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद युवराज सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया था। बाद में कोर्ट ने आदेश देते हुए युवराज को जमानत दे दी थी।

पिछले साल जब यह मामला सबके सामने आया तो देशभर में हंगामा हो गया। इसके बाद युवराज ने सोशल माडिया पर पोस्ट शेयर की और उसमें लिखा था कि मेरी बात का गलत मतलब निकाला गया है। यह मामला सोशल मीडिया पर कई समय तक ट्रेंड में रहा था।

युजवेंद्र चहल को लेकर की गई थी बात

Advertisement

कोरोना महामारी के चलते साल 2020 में पूरे देश में लॉकडाउन लगा था। इस दौरान खिलाड़ी वीडियो चैट पर बातें करते थे। इसी क्रम में युवराज सिंह टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के साथ इंस्टाग्राम लाइव चैट पर बात कर रहे थे। तभी दोनों के बीच युजवेंद्र चहल को लेकर बात हुई, युवराज ने इसी के बीच जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल किया था। उसके बाद उनका ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लग गया। इस वीडियो में युवराज जातिगत टीका-टिप्पड़ी करते हुए नजर आ रहे थे।

युवराज सिंह ने टीम इंडिया के लिए 58 टी20,304 वन डे, 40 टेस्ट मुकाबले खेले हैं। साल 2011 में हुए विश्वकप में टीम इंडिया को जीत दिलाने में युवराज ने अपना महत्वपूर्ण रोल अदा किया था। इसके बाद 2019 में युवराज ने क्रिकेट से सन्यास ले लिया था।

युवराज को थाने में दिया गया वीआईपी ट्रीटमेंट

Advertisement

युवराज को हरियाणा पुलिस की तरफ से मिल रहे वीआईपी ट्रीटमेंट देने और सेल्फी खिंचवाने पर शिकायतकर्ता ने आपत्ति जाहिर करते हुए कहा कि युवराज को एक आम आरोपी की तरह नहीं रखा गया, युवराज को जूस पिलाए गए और स्नैक्स खिलाए गए। इस बात को जानबूझकर मीडिया से छुपाया गया।

अपराध साबित होने पर हो सकती है 5 साल की सजा

अधिवक्ता कल्सन का कहना है कि युवराज को कोर्ट से दी गई जमानत को चुनौती दी जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि युवराज के खिलाफ हांसी पुलिस अदालत में चालान पेश किया जाएगा। युवराज को हिसार की विशेष अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अदालत में होने वाली हर तारीख पर कोर्ट में हाजिरी लगानी होगी और साथ ही में अदालत से नियमित जमानत भी लेनी पड़ेगी। अगर युवराज के खिलाफ अपराध साबित हो गया तो उन्हें 5 साल की सजा भी हो सकती है।

Advertisement

 

Share Post:
Advertisement
Advertisement
Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462011

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel.