Connect with us

Health & wellness

12 से 18 साल के बच्चों के लिए जायकोव-डी की वैक्सीन तैयार,अगले महीने से लगेगी वैक्सीन

Published

on

  • देश में 12-18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन अगले महीने से शुरू
  • कैडिला हेल्थकेयर अगले महीने बच्चों की वैक्सीन जायकोव-डी को करेगी लॉन्च
  • अक्टूबर से हर महीने 1 करोड़ डोज बनाना शुरू

 

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच देश में 12-18 साल के बच्चों का वैक्सीनेशन अगले महीने से शुरू हो जाएगी। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक कैडिला हेल्थकेयर अगले महीने बच्चों की वैक्सीन जायकोव-डी को लॉन्च कर देगी। इसके आपात इस्तेमाल के लिए ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने पिछले महीने इसे मंजूरी दे दी थी।रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक जायडस कैडिला अक्टूबर से हर महीने 1 करोड़ डोज बनाना शुरू कर देगी।

बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट बच्चों की वैक्सीन का कर रही ट्रायल

दूसरी तरफ भारत बायोटेक भी बच्चों पर कोवैक्सिन का तीसरे फेज का ट्रायल पूरा कर चुकी है। कंपनी ने कहा है कि वह अगले हफ्ते थर्ड फेज का डेटा DGCI को सौंप देगी। अभी थर्ड फेज के डेटा का एनालिसिस किया जा रहा है। वहीं सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया भी 2 से 12 साल की उम्र के बच्चों पर कोवावैक्स का दूसरे-तीसरे फेज का ट्रायल कर रही है।

गंभीर बीमारियों से ग्रस्त बच्चों को पहले लगेगी वैक्सीन

कोविड-19 वैक्सीनेशन पर सरकार को सलाह देने वाली कमेटी ने पिछले महीने राय दी थी कि शुरुआत में 12 साल से ज्यादा उम्र के उन बच्चों का वैक्सीनेशन किया जाए, जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं। कमेटी का कहना था कि देश में 40 करोड़ बच्चे हैं और सभी का वैक्सीनेशन शुरू किया जाता है तो पहले से चल रहे 18+ के वैक्सीनेशन पर असर पड़ेगा। कमेटी के चेयरमैन एन के अरोड़ा ने कहा था कि पूरी तरह से स्वस्थ बच्चों को वैक्सीनेशन के लिए अभी इंतजार करना होगा। कमेटी की सलाह के मुताबिक पहले उन बच्चों का वैक्सीनेशन किया जाएगा जो किडनी, कैंसर या हार्ट जैसी बीमारी से ग्रस्त हैं।

Advertisement

तीसरी लहर को देखते हुए बच्चों को वैक्सीन लगाना जरुरी

भारत जैसे घनी आबादी वाले देश में बच्चों का वैक्सीनेशन जल्द से जल्द होना जरूरी है। इसे बेहतर तरीके से समझने के लिए महाराष्ट्र का उदाहरण सामने है। मुंबई में कोरोना की पहली लहर के मुकाबले दूसरी लहर में बच्चों में संक्रमण देखा गया। वहीं माइक्रोबायोलॉजिस्ट प्रोफेसर डॉ. गगनदीप कंग का कहना है कि बड़ों को वैक्सीन लगने के बाद बच्चे ही ऐसे होंगे जो प्रोटेक्टेड नहीं होंगे। इस वजह से तीसरी लहर में उनके संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाती है

Share Post:
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Address : IND24, Plot No. 35, Indira Press Complex,
MP Nagar, Zone – 1, Bhopal (MP) 462023

Copyright © 2021 Ind 24 News Channel. Website Design & Developed By Shreeji Infotek